Breaking News
Home / गैलरी / इंटरनेशनल प्लांट फिजियोलॉजी कांग्रेस में उद्योग प्रतिनिधियों एवं वैज्ञानिको के बीच हुआ संवाद
DSC_5210

इंटरनेशनल प्लांट फिजियोलॉजी कांग्रेस में उद्योग प्रतिनिधियों एवं वैज्ञानिको के बीच हुआ संवाद

DSC_5210लखनऊ: नेशनल बॉटनिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट (एनबीआरआई) एवं इंडियन सोसाइटी ऑफ प्लांट फिजियोलॉजी (आईपीपीसी) द्वारा इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान, गोमती नगर में संयुक्त रूप से आयोजित चौथी इंटरनेशनल प्लांट फिजियोलॉजी कांग्रेस (आईपीपीसी)-2018 के तीसरे दिन तीन विशिष्ट व्याख्यान, तीन मुख्य व्याख्यान एवं 15 सत्र व्याख्यान प्रस्तुत किये गए. वही सायंकालीन पोस्टर सत्र में विभिन्न शोधार्थियों द्वारा 400 से अधिक पोस्टरों के माध्यम से अपने शोध कार्यों को प्रस्तुत किया गया.
दिन के विशिष्ट व्याख्यानों में डॉ.क्रिस्टीन फोयर (लीड्स विश्वविद्यालय यूनाइटेड किंगडम) ने “एंटी ऑक्सीडेंट एंड सेलुलर रीडोक्स होम्यो स्टैसिस” विषय पर प्रस्तुत अपने शोध में पौधे की वृद्धि तथा विभिन्न जैविक अथवा अजैविक तनावों के दौरान पौधे की प्रतिक्रियाओं के नियंत्रण में ऑक्सीडेंट एवं एंटीऑक्सीडेंट पदार्थों की भूमिका की विवेचना की. डॉ होयर ने बताया कि कोशिकाओं में ऊर्जा के निर्माण एवं उपभोग की प्रक्रियाएं चलती रहती हैं जिन्हें रिडोक्स प्रक्रियाएं कहा जाता है. इन प्रक्रियाओं के नियमन हेतु कुछ विशिष्ट आणुविक संकेत होते हैं जो इन प्रक्रियाओं के नियमन के द्वारा पौधों के विकास एवं वृद्धि के साथ साथ विभिन्न पर्यावरणीय परिस्थितियों के प्रति पौधे की प्रतिक्रियाओं को नियंत्रित करते हैं. स्पेन के ज़ोम मार्टीनेज गार्सिया ने बताया कि पौधों को अपने आस पास उग रहे पौधों एवं चारों ओर घनी होती हुई आबादी का एहसास हो जाता है. ये एहसास उन्हें घटती या बढ़ती छायाध्प्रकाश के आधार पर होता है. उन्होने अपने शोध में इस क्रिया से संबंधित कोशिकीय तंत्र के बारे में किए गए अपने शोध की जानकारी दी.
अमरीका की मैसाचुसेट्स विश्वविद्यालय के डॉ ओ पी डांडेकर द्वारा भविषय की खाद्य एवं ईंधन आवश्यकताओं के संदर्भ में चर्चा करते हुए खाद्य.तेलों एवं जैव.ईंधन हेतु बीजों की मेटाबोलिक अभियांत्रिकी के विषय में बताया. उन्होने इस संदर्भ में एक प्रमुख ईंधन तेल उत्पादक पौधे कैमिलाइना सैटाइवा तथा खाद्य तेल उत्पादक पौधों भारतीय सरसों एवं सोयाबीन में तेल की मात्रा बढ़ाने पर किए जा रहे अपने शोध को प्रस्तुत किया.
वही विशेष युवा वैज्ञानिक सत्र में 14 युवा वैज्ञानिकों ने अपने-अपने शोध प्रस्तुत किये. इस सत्र में प्रदर्शन के आधार पर तीन विजेताओं का चयन किया जाएगा जिन्हें समापन समारोह में सम्मानित किया जाएगा. इसके साथ दो कार्यशाला भी आयोजित की गईं. पहली कार्यशाला  “पौधों में फीनोमिक्स” विषय पर हुई. वहीं दूसरी कार्यशाला में एनबीआरआई के मुख्य वैज्ञानिक डॉ एस के तिवारी एवं उनकी टीम के द्वारा उद्यमिता हेतु पुष्प कला तकनीकी विषय पर प्रतिभागियों को जानकारी दी गई. दोनों कार्यशालाओं में लगभग 100 प्रतिभागियों ने भाग लिया. एक अन्य सत्र में विभिन्न उद्योगों के प्रतिनिधियों एवं प्रतिभागियों की चर्चा का भी आयोजित किया गया.

Check Also

chess

शिवानी कप संडे ओपन चेस टूर्नामेंट 20 को, दांव पर 5,000 हजार की इनामी राशि 

लखनऊ। लखनऊ जिला चेस स्पोर्ट्स एसोसिएशन के तत्वावधान में 20 जनवरी को 18वीं शिवानी कप संडे …

अमजद अंसारी

अमजद के आठ विकेट के आगे कल्याणपुर स्ट्राइकर्स का निकला दम

लखनऊ। मैन ऑफ द मैच मो. अमजद अंसारी (आठ विकेट) की घातक गेंदबाजी से ब्रेवर्स …

999 club

27वीं इंदिरा प्रियदर्शिनी क्रिकेट प्रतियोगिताः संदीप ने झटके पांच विकेट तो ट्रिपल नाइन को मिली जीत

लखनऊ। मैन ऑफ द मैच संदीप छाबड़ा (पांच विकेट) की धारदार गेंदबाजी से ट्रिपल नाइन …

kabaddi

18 जनवरी को जिला सीनियर पुरूष व महिला कबड्डी टीम के चयन के लिए होंगे ट्रायल

लखनऊ। क्षेत्रीय खेल कार्यालय व जिला कबड्डी संघ के तत्वावधान में जिला सीनियर पुरूष व …

tennis

अंशुमान सिंह, ओम यादव, सिद्धार्थ यादव और सताक्षी तिवारी उलटफेर भरी जीत के साथ सेमीफाइनल में

लखनऊ। यूपी के अंशुमान सिंह, ओम यादव, सिद्धार्थ यादव और सताक्षी तिवारी ने आल इंडिया …

IMG20190115153223

वारियर्स फुटबॉल कप : अवध क्लब ने टाईब्रेकर में दर्ज की जीत

लखनऊ: जिला फुटबॉल संघ और अलीगंज वॉरियर्स क्लब की ओर से चौक स्टेडियम पर मंगलवार से …