Breaking News
Home / बिजनेस / इंटीमेट वियर उद्योग की प्रदर्शनी का आयोजन अगले माह
wear

इंटीमेट वियर उद्योग की प्रदर्शनी का आयोजन अगले माह

wearलखनऊ। इंटीमेट अपरेल एसोसिएन ऑफ इंडिया (आईएएआई) कोच्चि और चेन्नई में सफलता के बाद उत्तर भारत के बाजारों को केन्द्रित करते हुये आगामी 21 और 22 जनवरी को इंटिमेसिया प्रदर्शनी का आयोजन करने जा रही है। इस प्रदर्शनी में इंटीमेट वियर उद्योग की बड़ी हस्तियां, रिटेलर्स एवं इंटीमेट वियर ब्रांड आप में मिलेंगे, कनेक्ट होंगे और प्रेरणा प्राप्त करेंगे। प्रगति मैदान में लगने वाली इस प्रदर्शनी के बारे में जानकारी देते हुय इंटीमेट अपरेल एसोसिएशन ऑफ इंडिया के चीफ ऑर्गेनाईज़र एवं सीईओ  यूसुफ दोहादवाला ने बताया इंटिमेसिया 3.0 का उद्देश्य अपने पिछले संस्करण के मुकाबले तीन गुना ज्यादा आगंतुकों को आकर्षित करना है।
इंटिमेसिया के साथ उत्तर भारत में फैशन और बिज़नेस का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन होगा। उल्लेखनीय है कि इंटीमेट वियर वर्तमान में गारमेंट ट्रेड में सबसे तेजी से विकसित होता सेक्टर है और इस उद्योग के केंद्र में दिल्ली स्थित है। इसलिए यह निर्माताओं एवं ट्रेड को विस्तृत एक्सपोज़र प्रदान करने के लिए उपयुक्त स्थान है। इसके साथ ही प्रगति मैदान में भारत की प्रीमियर एक्ज़िबिशन सुनिश्चित करेगी कि इंटिमेसिया 3.0 भारत की सिग्नेचर इंटीमेट वियर एक्स्पो बन जाए। यूसुफ दोहादवाला के मुताबिक इंटिमेसिया को सबसे अलग कॉन्सेप्ट के रूप में विकसित किया गया, जो एक ही बैनर तले ब्रांडों एवं रिटेलर्स में सर्वश्रेष्ठ को एक स्थान पर एकत्रित करेगी। उनका विज़न बहुत स्पष्ट होगा। फैशन एवं आइडिएशन को प्रमोट कर इनरवियर बिज़नेस को नई ऊँचाईयों पर ले जाना तथा इनोवेशन के साथ वार्ता को प्रोत्साहित करना। इस ईवेंट के पहले दो संस्करणों की अपार सफलता प्रमाणित कर चुकी है, कि इंटिमेसिया आपके वियरेबल्स को प्रदर्षित करने का केवल एक मंच ही नहीं है, बल्कि यहां पर ब्रांड्स एवं रिटेलर्स के लिए प्रदर्शनी, नए लॉन्च, नेटवर्किंग, अवसरों एवं भव्य मंच का समावेश है, जहां वो आपस में जुड़कर, खोज करके विकसित हो सकते हैं। पूरे देश के डेलिगेट्स, प्रतिभागी एवं आगंतुक इस मंच की प्रभावशीलता देखेंगे, जहां वो स्थायी संपर्क स्थापित करके अपने क्षेत्र में प्रभावशाली कार्य कर सकेंगे। प्रगति मैदान में हो रही इस प्रदर्शनी को लेकर आयोजक यूसुफ दोहादवाला ने बताया कि दिल्ली छह प्रमुख राज्यों की सीमाओं को छूता है और यहां से 86 प्रमुख शहरों को एक रात से भी कम की यात्रा में पहुंचा जा सकता है। शहर में वृद्धि दर 11.22 प्रतिशत जीएसडीपी है, जिसके कारण यह देश के सबसे तेजी से विकसित होते शहरों में से एक है। इसकी वृद्धि मजबूत नीति, सरकारी केंद्रण, अनुकूल भौगोलिक स्थान, फैशन के प्रति सचेत नागरिक, बुनियादी ढांचे, आर्थिक वातावरण और बिज़नेस के अनुकूल निवेश के सात स्तंभों पर टिकी है।

Check Also

01

 बैंक ऑफ़ बड़ौदा को अब मिला देना और विजया बैंक का साथ

लखनऊ: दो सरकारी बैंकों विजया बैंक और देना बैंक का बैंक ऑफ बड़ौदा में विलय …

google-2

ऑनलाइन विज्ञापन में पक्षपात का आरोप, गूगल पर ईयू ने ठोंका 117 अरब रुपये जुर्माना

गैजेट डेस्क: अमेरिकी टेक दिग्गज कंपनी गूगल पर आनलाइन खोज विज्ञापन की ब्रोकिंग मामले में बाजार …

anil ambani

मिला बड़े भाई का साथ, अनिल अंबानी ने चुकाया 550 करोड़ और टला जेल जाने का संकट

नई दिल्ली : पिछली  19 फरवरी को सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट द्वारा अनिल अंबानी को …

cut 2

रियलमी इस साल ऑफ़लाईन सेल्स का 150 शहरों में करेगी सेवा विस्तार

लखनऊ: भारत में स्मार्टफोन के तेज़ी से विकसित होते नम्बर एक ब्राण्ड रियलमी ने इस …

cut

अब महिलायें कुकर को लेकर नहीं होगी परेशान

लखनऊ। आमतौर पर कुकर से जुड़ी प्रमुख समस्याओं को लेकर महिलाओं में होने वाली परेशानी …

verma ji

ईसीजीसी का नया कार्यालय नोएडा के वर्ल्ड ट्रेड टॉवर में 

नई दिल्ली : एक्सपोर्ट क्रेडिट गारंटी कारपोरेशन ऑफ इंडिया(ईसीजीसी लिमिटेड) का नया कार्यालय नोएडा सेक्टर-16 स्थित …