Breaking News
Home / स्वास्थ्य / जल्द ध्यान नहीं दिया तो भारत बन जायेगा दुनिया  का आर्थराइटिस कैपिटल
11102018 (4)--------

जल्द ध्यान नहीं दिया तो भारत बन जायेगा दुनिया  का आर्थराइटिस कैपिटल

11102018 (4)--------लखनऊ: ओस्टियोआर्थराइटिस भारतीयों मेंसबसे ज्यादा पाया जाने वाला अर्थराइटिस है. भारत में लगभग 15 मिलियन लोग ओस्टियोआर्थराइटिस से प्रभावित हैं। विशेष तौर से महिलाएं इससे ज्यादा प्रभावित रहती हैं। ऐसा पाया गया है कि 65 वर्ष की आयु से ऊपर की महिलाओं में लगभग 45 प्रतिशत महिलाओं में इसके लक्षण देखने को मिलते हैं और जांच करने पर पता चला कि लगभग 70% महिलाएं जो कि 65 वर्ष से ऊपर आयु की हैं उनमें ओस्टियोआर्थराइटिस के लक्षण हैं.

विश्व आर्थराइटिस दिवस 12 अक्टूबर को

यह जानकारी आर्थराइटिस फाउंडेशन ऑफ लखनऊ के संस्थापक डाक्टर संदीप कपूर और डाक्टर संदीप गर्ग ने विश्व आर्थराइटिस दिवस की पूर्व संध्या पर अयोजोत पत्रकार वार्ता में कही. डॉ कपूर ने बताया कि जिस दर से ओस्टियो आर्थराइटिस की समस्या देश में पाई जा रही है यह संभव है कि साल 2025 तक लगभग 7 मिलियन लोग भारत में ओस्टियोआर्थराइटिस से प्रभावित हो सकते हैंऔर यह इस बात का संकेत है की भारत दुनिया में इस बीमारी का कैपिटल बन सकता है।

डॉ गर्ग ने बताया किकी जोड़ों की समस्या बढ़ने का एक कारण औसत आयु का बढ़ना भी है. जोड़ों के दर्द या अन्य लक्षणों को गंभीरता से लिया जाना चाहिए और हर व्यक्ति को यह देखना चाहिए की वह जोड़ोंके दर्द को नजरअंदाज न करें. वही पिछले कुछ दशकों में ऑपरेशन करने में यह बात सामने आई है की चार-पांच मरीजों में महज एक ही पुरुष काऑपरेशन होता है जिससे यह बात साफ हो जाती हैं की महिलाओं में समस्या ज्यादा है और यह समस्या युवा लोगों में देखने को भी मिल रही है परन्तु अभी इसके कारण भी स्पष्ट नहीं है।

ऐसे में लोगों को सावधानी इस बात पर भी रखनी चाहिए कि वह अनसाइंटिफिक व इंटरनेट के माध्यम से खोजे गए इलाज पर भरोसा ना करें. शुरुआती लक्षणों के आते ही सही समय पर जांच और इलाज से संभव है कि बीमारी को उसके शुरुआती स्टेज पर पकड़ा जाए और इलाज भी उसी हिसाब से हो जिससे सर्जरी से भी बचा जा सके.

डॉ. संदीप कपूर व डॉ. संदीप गर्ग ने बताया कि आर्थराइटिस प्रमुख रूप से शरीर के जोड़ों पर असरकरता है. आर्थराइटिस आज जीवनशैली सम्बन्धित बीमारियों में पहले स्थान पर है. डॉ.कपूर ने बताया कि लखनऊ में लगभग 5 लाख व्यक्ति आर्थराइटिस से प्रभावित हैं. भारत में यह संख्या 10 करोड़ है.

आर्थराइटिस दिवस पर होगी साइकिलथान

आर्थराइटिस के प्रति लोगों को जागरुक करने के लिए आर्थराइटिस फाउण्डेशन ऑफ लखनऊ आर्थराइटिस दिवस 12 अक्टूबर को ‘‘साइकिलथान’’ का आयोजन करेगा. यह साइकिल थान गोमती नगर स्थित हेल्थ सिटी ट्रॉमासेंटर एंड सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल पर सुबह 6.30 बजे शुरू होगी. इस दौरान योगाभ्यास का भी आयोजन किया गया है. कार्यक्रम में मुख्य रूप से महापौर और जिलाधिकारी सहित शहर के गणमान्य लोग, डाक्टर, प्रबुद्ध लोग व बुजुर्गों के साथ युवा भी प्रतिभाग करेंगे.

Check Also

cut

उन्नत एआरटी तकनीकों से आईवीएफ की सफलता दर बढ़ी:डॉ. सईदा वसीम

लखनऊ: इनफर्टिलिटी की समस्या दुनिया भर में बढ़ रही है। भारत में लगभग 10-12 प्रतिशत …

r+CklQ==_= ___ __ ________ ____ ___

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तत्वावधान में तीन दिवसीय राज्य स्तरीय प्रशिक्षण प्रारम्भ

लखनऊ: प्रदेश के जनपदीय अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं कार्यक्रम अधिकारियों की राज्य स्तर पर आयोजित …

boxing

जूनियर राष्ट्रीय मुक्केबाजी: चमकीं हरियाणा की तन्नू, विंका

चंडीगढ़, 15 दिसम्बर। बीएफआई दूसरी जूनियर राष्ट्रीय मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के तीसरे दिन शनिवार को पंजाब …

IMG-20181213-WA0068

प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र स्वास्थ्य विभाग की रीढ़ की हड्डी:सिद्धार्थ नाथ

लखनऊ। आईआईएम रोड स्थित संत रविदास नगर निकट डूडा कालोनी के आसपास जुडे लगभग 60,000 …

IMG-20181207-WA0187

मुख्य सचिव व प्रमुख सचिव से वार्ता के बाद फार्मासिस्टो का आंदोलन स्थगित 

लखनऊ । मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव स्वास्थ्य से वार्ता के बाद फार्मेसिस्टों का आंदोलन …

Photo Blood Donation Camp_Help U Trust_01.12.2018

थैलीसीमिया से पीड़ित बच्चों को नहीं होने देंगे रक्त की कमी:हर्ष वर्धन अग्रवाल

लखनऊ: विश्व एड्स दिवस (एक दिसम्बर) के अवसर पर हेल्प यू एजुकेशनल एंड चैरिटेबल ट्रस्ट …