Breaking News
Home / उत्तर-प्रदेश / न्यूज 24 के पत्रकार के मुंह में पेशाब, सरकारी अमला उड़ा रहा कानून की धज्जियां- रिहाई मंच
photo 22 copy

न्यूज 24 के पत्रकार के मुंह में पेशाब, सरकारी अमला उड़ा रहा कानून की धज्जियां- रिहाई मंच

photo 22 copyलखनऊ । रिहाई मंच ने उत्तर प्रदेश में लगातार हो रही हत्याओं और पत्रकारों के साथ मारपीट और गिरफ्तारियों पर गहरा रोष व्यक्त किया है। रिहाई मंच अध्यक्ष मुहम्मद शुऐब ने कहा कि लोकसभा चुनावों के बाद से ही उत्तर प्रदेश में लगातार हो रही हत्या और बलात्कार की घटनाओं ने कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ा दी हैं। आगरा में न्यायालय परिसर में उत्तर प्रदेश बार कौंसिल की नवनियुक्त पहली महिला अध्यक्ष दरवेश यादव की सैकड़ों लोगों के बीच गोली मार कर हत्या कर दी जाती है तो शामली में न्यूज़ 24 के पत्रकार अमित शर्मा को पत्रकारिता धर्म निभाने के जुर्म में जीआरपी एसएचओ और सिपाही बुरी तरह पीटते हैं और निर्वस्त्र कर उसके मुंह में पेशाब करते हैं। उन्होंने कहा कि इससे आम जनता के प्रति पुलिस के व्यवहार का अंदाज़ा लगाया जा सकता है। पुलिस का जघन्य आपराधिक घटनाओं के घंटों बाद घटना स्थल पहुंचने का पुराना रिकार्ड है लेकिन योगी आदित्यनाथ के व्यक्तित्व को कथित रूप से ठेस पहु्ंचाने वाले वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर करने के नाम पर पत्रकारों से लेकर डाक्टर, ग्रामप्रधान, किसान, व्यवसायी, सामाजिक कार्यकर्ता और आमजन तक को गिरफ्तार करने में पुलिस ने कमाल की तत्परता दिखाई। कानून व्यवस्था दुरूस्त रखने के लिए इसकी आधी तत्परता भी होती तो प्रदेश में अपराध का ग्राफ आसमान नहीं छूता।

  • न्यूज 24 के पत्रकार अमित शर्मा के मुंह में पेशाब, जीआरपी एसएचओ और सिपाही ने पीटा

उन्होंने कहा कि प्रशांत कनौजिया की पत्नी जगीशा अरोरा की याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायलय ने यूपी पुलिस द्वारा उसकी गिरफ्तारी को आज़ादी के अधिकार का हनन बताया। इसके बावजूद प्रदेश में गिरफ्तारियों का दौर जारी है और अब तक प्रशांत के अलावा 9 लोगों पर मुकदमा हो चुका है। इनमें दिल्ली की पत्रकार इशिता सिंह, अनुज शुक्ला के अलावा गोरखपुर के पीर मोहम्मद, धर्मेन्द्र भारती, डाक्टर आरपी यादव, बस्ती के अख़लाक़ अहमद, विजय कुमार यादव शामिल हैं। प्रशांत कनौजिया की रिहाई के लिए लखनऊ के अधिवक्ता एबी सोलोमन समेत रॉबिन वर्मा, अमरदीप, परशुराम कनौजिया, शकील कुरैशी, ज्योति राय, इम्तियाज़ अहमद आदि तमाम लोगों की कोशिश को सराहा। कहा कि अन्य गिरफ्तार व्यक्तियों को भी यथासम्भव कानूनी और नैतिक सहायता उपलब्ध कराई जाएगी।

रिहाई मंच नेता राजीव यादव ने हज़ारीबाग़ से स्वतंत्र प्रकार रूपेश सिंह, उनके अधिवक्ता मित्र मिथलेश सिंह और वाहन चालक मोहम्मद कलाम की नक्सली होने का आरोप लगाकर हुई गिरफ्तारी को सरकार द्वारा सच्चाई का गला घोंटने वाला कदम बताया। रूपेश सिंह विभिन्न पत्रिकाओं के जरिए ऐसा सच सामने ला रहे थे जो सत्ता को रास नहीं आ रहा था। उन्हें 4 जून से एजेंसियों में अपने कब्ज़े में रखा था और 7 जून को नक्सलियों को हथियार की आपूर्ति का आरोप लगाकर गिरफ्तारी दिखा दी। उन्होंने कहा कि रिहाई मंच बेगुनाहों की तत्कालीन रिहाई की मांग करता है।

Check Also

up

6 जुलाई को होंगे जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य व ग्राम पंचायत के उपचुनाव, अधिसूचना जारी 

लखनऊ । प्रदेश में पंचायत राज संस्थाओं में आकस्मिक खाली हुए पदों पर उपचुनाव की …

ssss

केसीसी बढ़ाकर 51,500 करोड़ रुपए का लक्ष्य शीघ्र पूरा करें : सूर्य प्रताप शाही

लखनऊ: प्रदेश् के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही विधान सभा स्थित एपीसी सभागार में राज्य स्तरीय …

anupama

महिलाए समाज को संदेश दे कि वह अबला नहीं अब सबला हैं : अनुपमा जायसवाल

लखनऊ: नारी के बिना न तो सृष्टि की रचना हो सकती है और न ही सृष्टि …

yogi

मुख्यमंत्री की प्रेस रिलीज हिंदी के अलावा अब संस्कृत में भी होगी जारी

लखनऊ: लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज कर संसद पहुंचने वाले उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्रियों एसपी बघेल, …

tkd cut

अंतर्राष्ट्रीय ताइक्वांडो : सोनभद्र के सागर थापा ने भारत के लिए जीता स्वर्ण पदक, रचा इतिहास

सोनभद्र | सोनभद्र के ताइक्वांडो खिलाड़ी सागर थापा ने हैदराबाद में 10 से 16 जून तक …

inaguration cermony

यूपी पहले दिन तीन स्वर्ण सहित आठ पदक जीतकर सबसे आगे

लखनऊ। मेजबान यूपी के खिलाड़ियों ने केडी सिंह बाबू स्टेडियम के बैडमिंटन हाल में शुरू हुई 39वीं …