Breaking News
Home / इंटरव्यू / रायबरेली एक्सप्रेस सुधा सिंह अब ओलंपिक में पदक जीतने के लिए तैयार
sudha singh3

रायबरेली एक्सप्रेस सुधा सिंह अब ओलंपिक में पदक जीतने के लिए तैयार

sudha singh3लखनऊ। मेरा लक्ष्य टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करके पदक जीतना है, जिसके लिए मैने जल्द ही फिर से ट्रेनिंग शुरू कर दूंगी। इसके साथ ही टोक्यो ओलंपिक के बाद रायबरेली में स्पोर्ट्स अकादमी खोलकर युवाओं को ट्रेनिंग दूंगी।

एशियन गेम्स-2018 में 3000 मीटर स्टीपल चेज में रजत पदक विजेता सुधा सिंह का लखनऊ वापसी पर भव्य स्वागत

सुधा सिंह ने कहा कि अब ओलंपिक में पदक लाना ही मेरा एक मात्र लक्ष्य है। यह कहना है एशियन गेम्स 2018 में 3000 मीटर स्टीपल चेज में रजत पदक विजेता रायबरेली एक्सप्रेस सुधा सिंह का जो एशियाड में पदक जीतने के बाद बुधवार को लखनऊ पहुंची।

लगे जिंदाबाद के नारे, लम्बा चला सेल्फी का दौर

sudha singh13पदक जीतकर लौटी यह यूपी की बेटी जब लखनऊ में जैसे ही इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से निकली तो उनकी जीत से खुशी से झूम रहे लखनऊ वासियों ने उन्हें घेर लिया और काफी देर तक उनका स्वागत किया यहीं नहीं कुछ लोग सुधा सिंह के साथ सेल्फी खिंचाने की होड़ में लग गए। यहीं नहीं जूनियर एथलीट ने सुधा दीदी जिंदाबाद के नारे भी लगाए।

डिप्टी सीएम केशव मौर्या ने भी किया स्वागत, कहा-सुधा यूपी की शान

हालांकि सुधा नौकरी और ट्रेनिंग के चलते ज्यादातर समय यूपी से बाहर रहती है जिसके चलते वह काफी समय बाद लखनऊ लौटी तो उनके स्वागत के लिए होड़ लग गई। सुधा ने भी किसी को नाराज नहीं किया और दिल खोलकर लोगों से मिली।
इस दौरान डिप्टी सीएम केशव मौर्या भी यूपी की इस बेटी का स्वागत करने आए और उन्होंने सुधा को उसकी उपलब्धि के लिए बधाई दी और उन्हें यूपी की शान बताया।

नई पौध को निखारने के लिए रायबरेली में अकादमी खोलने की तैयारी

FB_IMG_15367634211708700रायबरेली की रहने वाली सुधा सिंह ने बताया कि वह अपने क्षेत्र में एथलेटिक्स अकादमी खोलना चाहती है. यहां पर वह एक एथलेटिक्स ग्राउंड भी तैयार करना चाहती है जिससे यहां के खिलाडिय़ों को ट्रेनिंग मिल सके. वह खुद खिलाडिय़ों को ट्रेनिंग देना चाहती है. सुधा ने कहा कि मेरा सपना है कि रायबरेली में स्पोर्ट्स अकादमी खोलूं। मैं ओलंपिक के बाद अकादमी खोलकर नई पौध को संवारने को ध्यान दूंगी।

करना चाहती है घर वापसी, उत्तर प्रदेश में नौकरी मिलने का पूरा विश्वास

मुम्बई रेलवे में काम करने वाली सुधा सिंह ने अपने खेल कॅरियर की शुरुआत केडी सिंह बाबू स्टेडियम से की थी। उन्होंने बताया कि मैं अब अपने प्रदेश में नौकरी करना चाहती हू। सुधा सिंह ने कहा कि मैं खेल विभाग में डिप्टी डायरेक्टर का पद चाहती हूं। इस बारे में यूपी सरकार को अवगत करा चुकी हूं। उन्होंने कहा जहां बचपन बीता है वहीं सेवा कर जीवन गुजारने की इच्छा है. शासनादेश के अनुसार ऐसे खिलाडिय़ों को राजपत्रित अधिकारी की नौकरी दिए जाने का नियम है.

ज्यादातर खिलाड़ी गरीब तबके से, इनामी राशि बढ़ने से मिलेगी मदद

sudha-5sudha singhसुधा ने दोपहर में राज्यपाल राम नाईक से भी मुलाकात की और कहा कि मैंयूपी की बेटी हूं और हमेशा रहूंगी। सुधा ने इनामी राशि को लेकर नाराजगी की बात को नकारते हुए कहा कि प्रदेश में खिलाड़ी ज्यादातर गरीब तबके से आते है ंतो उसका ट्रेनिंग में काफी खर्चा भी होता है। अगर यूपी सरकार इनामी राशि में इजाफा करती है तो इससे इन खिलाडिय़ों के परिवार पर पडऩे वाला बोझ कम होगा और सीनियर वर्ग तक पहुंचते-पहुंचते वह परिवार की आर्थिक मदद भी कर सकेंगे।

एक सप्ताह आराम के बाद फिर से शुरू करेंगी अभ्यास

सुधा ने कहा कि मैं अभी पूरी तरह फिट हूं और फिटनेस और स्ट्रैंथ बढ़ाने के लिए मैराथन का अभ्यास भी करती हूं। रियो ओलंपिक में पदक से चूकी सुधा सिंह ने बताया कि टोक्यो ओलम्पिक के लिए मैं जल्द ही तैयारियां शुरू कर दूंगी। फिलहाल एक सप्ताह आराम करूंगी। उसके बाद रेलवे टीम का कैंप ज्वाइन करूंगी। चेक रिपब्लिक में होने वाली वर्ल्ड रेलवे मैराथन में वह भारतीय रेलवे का प्रतिनिधित्व करती नजर आएंगी।

हॉस्टल में गुजारे पांच साल

FB_IMG_15367641376784335सुधा सिंह ने केडी सिंह बाबू स्टेडियम में एथलेटिक्स की शुरुआत की. यहां पर कोच विमला सिंह के दिशा निर्देशन में एथलेटिक्स की प्रैक्टिस शुरू की. 2000 से 2005 तक हॉस्टल में रह कर सुधा सिंह ने एक के बाद एक नेशनल लेवल पर मेडल जीते. इसके बाद इंडिया कैम्प में जगह बनाई और एशियन गेम्स तक का सफर तय किया.

Check Also

amit shah

भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह को  स्‍वाइन फ्लू, एम्‍स में हुए भर्ती

नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह स्वाइन फ्लू के शिकार हो गये …

Shivam Mavi1

रणजी क्वार्टर फाइनल: यूपी के गेंदबाजों के आगे नहीं चले सौराष्ट्र के बल्लेबाज, पुजारा भी फ्लॉप 

लखनऊ । गेंदबाजो के धारदार प्रदर्शन के चलते यूपी ने बुधवार को यहां रणजी के …

beto

लोग अपनी बेटी और बेटों में कोई फर्क न करें : क्षमता रावत

बाराबंकी : समाज में छोटी बच्चियों के खिलाफ भेदभाव और लैंगिक असमानता की ओर ध्यान दिलाने …

yupi

यूपी राज्य महिला आयोग मुख्यालय पर हुई जनसुनवाई

लखनऊ: यूपी राज्य महिला आयोग द्वारा प्रदेश में महिला उत्पीड़न की घटनाओं पर रोकथाम और …

gaav

ग्रामीण क्षेत्रों में स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए ‘महात्मा गांधी खाद्य प्रसंस्करण ग्राम स्वरोजगार योजना’ शुरू

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार के अन्तर्गत उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में स्वरोजगार …

sainik

सहायक अध्यापकों की भर्ती में भूतपूर्व सैनिक भी आरक्षित वर्ग में लाभार्थी 

  लखनऊ: प्रदेश के अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा डा. प्रभात कुमार ने बताया कि सहायक …