July 29, 2021

65 छात्रों को विदेश में पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई के लिए केसी महिन्द्रा स्कॉलरशिप

फाइल फोटो सोशल मीडिया

फाइल फोटो सोशल मीडिया

Share This News

इस साल विदेश में पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई के लिए 65 छात्रों को केसी महिन्द्रा छात्रवृत्ति दी गई है. कुल 1812 आवेदनकर्ताओं में से 106 उम्मीदवारों को साक्षात्कार के लिए चुना गया था, साक्षात्कार का आयोजन 6 जुलाई 2021 को हुआ. देश में साक्षरता एवं उच्च शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए 1953 में के.सी. महिन्द्रा एजुकेशन ट्रस्ट की स्थापना की गई थी.

अब तक यह ट्रस्ट 103.5 मिलियन डॉलर की छात्रवृत्ति, आजीविका प्रशिक्षण प्रोग्रामों, स्कूल के बाद ट्यूशन के लिए सहयोग एवं अन्य आर्थिक सहायता के माध्यम से 5,00,000 से अधिक योग्य एवं ज़रूरतमंद छात्रों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव उत्पन्न कर चुकी है.

फाइल फोटो सोशल मीडिया
फाइल फोटो सोशल मीडिया

विदेश में पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई के लिए केसी महिन्द्रा स्कॉलरशिप, ट्रस्ट द्वारा स्थापित पहली छात्रवृत्ति है, जो अब तक 1500 से अधिक छात्रों को दी जा चुकी है। 1956 के बाद से छात्रवृत्ति के तहत योग्य छात्रों को ब्याज रहित ऋण दिए जा रहे हैं. केसी महिन्द्रा छात्रवृत्ति की मदद से पढ़ाई पूरी करने वाले छात्र न केवल प्रतिष्ठित संस्थानों में शोध और अध्यापन कर रहे हैं.

हालांकि बहुत से छात्र जाने-माने नेशनल एवं इंटरनेशनल बैंकिंग, कमर्शियल, फाइनैंशियल संस्थानों, मल्टीनेशनल कॉर्पोरेशन्स में कार्यरत है, उच्च गुणवत्ता की चिकित्सा एवं कानूनी सेवाएं उपलब्ध करा रहे हैं और उभरते क्षेत्रों जैसे आईटी, बायोटेक्नोलॉजी, आधुनिक कम्प्यूटिंग जैसे मशीन लर्निंग, आर्टीफिशियल इंटेलीजेन्स और रोबोटिक्स में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर रहे हैं.

इस साल छात्रवृत्ति प्राप्त करने वाले छात्र देश भर के विभिन्न शहरों से हैं जैसे अहमदाबाद, अलाप्पुझा, अनंतपुर, बैंगलुरू, भोपाल, चण्डीगढ़, चेन्नई, दिल्ली, धर्मशाला, फरीदाबाद, गुरूग्राम, ग्वालियर, गंुटूर, हाथरस, हैदराबाद, मुंबई, इंदौर, जयपुर, जोधपुर, कोलकाता, लखनऊ, मेडचल, नई दिल्ली, पटना, पुणे, उदुपी, वड़ोदरा और वाराणसी। चुने गए उम्मीदवारों में से 26 ग्रेजुएट्स आईआईटी संस्थानों से हैं.

शेष छात्रों ने अन्य प्रमुख शैक्षणिक संस्थानों जैसे बीआईटीएस पिलानी, नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया, लेडी श्री राम कॉलेज, सेंट ज़ेवियर्स कॉलेज, सेंट स्टीफन्स कॉलेज और सर जे.जे. कॉलेज ऑफ आर्कीटेक्चर से ग्रुेजुएशन की पढ़ाई पूरी की है.

ये भी पढ़े :  एसीसी-अंबुजा सीमेंट्स की मूल कंपनी लाफार्ज होल्सिम अब होगी होल्सिम ग्रुप

इन उम्मीदवारों को विदेशों के सर्वोच्च रैंकिंग वाले संस्थानों एवं विश्वविद्यालयों जैसे हार्वर्ड युनिवर्सिटी, स्टैनफोर्ड युनिवर्सिटी, मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, कार्नेज मैलन युनिवर्सिटी, युनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, बर्कले, जॉर्जिया इन्सटीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, युनिवर्सिटी ऑफ पैनसिल्वेनिया, लंदन बिज़नेस स्कूल, लंदन स्कूल ऑफ इकोनोमिक्स, युनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड और युनिवर्सिटी ऑफ कैम्ब्रिज में एडमिशन मिला है.

पहले स्थान पर रहे तीन छात्रों को रु 8-8 लाख की छात्रवृत्ति दी जाएगी और शेष सभी छात्रों को  4-4 लाख रुपए की छात्रवृत्ति मिलेगी. भारत के सबसे प्रतिभाशाली छात्रों को उच्च शिक्षा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से इस साल कुल रु 2.72 करोड़ की छात्रवृत्ति दी जा रही है. 

ये प्रतिभाशाली छात्र विभिन्न विषयों जैसे कम्प्यूटर साइन्स, इंजीनियरिंग, एमबीए, आर्कीटेक्चर, डिज़ाइन, लॉ, पब्लिक पॉलिसी, एजुकेशन और इकोनोमिक्स आदि विभिन्न विषयों में पोस्ट-ग्रेजुएशन की पढ़ाई करेंगे.


Share This News