July 24, 2021

एशियाई मुक्केबाजी : शिवा थापा का पांचवां पदक जीतना तय

Share This News

नई दिल्ली: भारत के शिवा थापा ने दुबई में चल रही एएसबीसी एशियाई महिला एवं पुरुष मुक्केबाजी चैंपियनशिप-2021 के 64 किग्रा भार वर्ग के सेमीफाइनल में पहुंचने के साथ एक पदक पक्का कर लिया. शिवा ने मंगलवार को कुवैत के नादेर ओदाह को एकतरफा अंदाज में 5-0 से हराया और एशियाई चैम्पियनशिप में अपने लिए पांचवां पदक पक्का किया.

इससे पहले एक स्वर्ण, एक रजत और दो कांस्य पदक जीत चुके शिवा ने लाइटवेट में दूसरा पदक पक्का किया. इससे पहले 2019 में शिवा ने बैंकाक में कांस्य पदक और 2015 में बैंकाक में ही कांस्य पदक जीता था लेकिन वह पदक बैंटमवेट कटेगरी में था.  इससे पहले, शिवा ने 2017 में बैंटमवेट में ही ताशकंद में रजत पदक जीता था.

इसी कटेगरी में शिवा 2013 में अम्मान में स्वर्ण भी जीत चुके हैं, शिवा थापा ने 2015 विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य पदक भी जीता है. अब देखना है  कि शिवा लाइटवेट में अपने पदक का रंग बदल पाते हैं या नहीं. शिवा को सेमीफाइनल में जीतने के लिए टाप सीड ताजिकिस्तान के बखोदुर उस्मानोव को हराना होगा.

क्वार्टर फाइनल में विश्व चैम्पियन से हारे हुसामुद्दीन

मंगलवार को ही खेले गए पहले मुकाबले में भारत के मोहम्मद हुसामुद्दीन 56 किग्रा वर्ग के क्वार्टर फाइनल में मौजूदा विश्व चैम्पियन उजबेकिस्तान के मिराजिजबेक मिर्जाहालीलोव के हाथों हार गए. वो वह क्वार्टर फाइनल में टाप सीड की चुनौती के आगे नहीं टिक सके और 1-4 के स्पिलिट निर्णय से मुकाबला गंवाकर टूर्नामेंट से बाहर हो गए.

पहले दौर में हुसामुद्दीन ने 56 किलो ग्राम भार वर्ग में कजाकिस्तान के मखमुद सेबिर्क को एकतरफा अंदाज में 5-0 से हराया था. शुरुआत में इस टूर्नामेंट में 27 से अधिक देशों की भागीदारी की उम्मीद थी। हाल ही में लगाए गए यात्रा प्रतिबंधों के कारण, हालांकि कुछ देश इसमें भाग नहीं ले सके.

एशियाई मुक्केबाजी : तीसरे दिन क्वार्टर फाइनल खेलेंगे पंघल, विकास और आशीष

इस आयोजन में  भारत, उज्बेकिस्तान, फिलीपींस और कजाकिस्तान जैसे मजबूत मुक्केबाजी देशों सहित 17 देशों के 150 मुक्केबाज अपनी श्रेष्ठता साबित करने का प्रयास कर रहे है. 2019 में बैंकॉक में आयोजित चैंपियनशिप के पिछले संस्करण में, भारतीय टीम ने दो स्वर्ण सहित 13 पदक जीतते हुए अभूतपूर्व सफलता हासिल की थी.


Share This News