July 29, 2021

इस टूर्नामेंट से दुती और हिमा समेत इन एथलीट को हासिल हो सकता है ओलंपिक टिकट

Share This News

शुक्रवार से पटियाला में होने वाली राष्ट्रीय अंतरराज्यीय चैंपियनशिप में फर्राटा धाविका दुती चंद और हिमा दास सहित भारतीय ट्रैक एवं फील्ड के शीर्ष एथलीट के पास ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करने का आखिरी अवसर होगा. दुती सोमवार को यहां इंडियन ग्रां प्री 4 (आईजीपी-4) में महिला 100 मीटर दौड़ में मामूली अंतर से 11.15 सेकेंड के क्वालीफिकेशन समय को हासिल करने से चूक गयी थी.

उन्होंने हालांकि अपना राष्ट्रीय रिकार्ड तोड़ा था. वैसे वो विश्व रैंकिंग की वजह से ओलंपिक में जगह बना सकती है. पिछले टूर्नामेंट में पिछले लंबे टाइम से चोट से परेशान रही हिमा ने 200 मीटर में 20.88 सेकेंड निकाला किया था लेकिन वो 20.80 के क्वालीफिकेशन समय तक नहीं पहुंच पायी. उनकी विश्व रैंकिंग बहुत अच्छी नहीं है और इसलिए उन्हें ओलंपिक क्वालिफिकेशन टाइम पार करना होगा.

मोहम्मद अनस, अमोज जैकब, अरोकिया राजीव और नोह निर्मल टॉम पुरुष 4×400 मीटर रिले में रैंकिंग में 16वें स्थान पर है और इसी रैंकिंग के रहने पर उनका ओलंपिक टिकट पक्का है.

रोड टू टोक्यो में 29 जून तक शीर्ष 16 में रहने वाली टीमें क्वालीफाई करेंगी. पुरुष 4×400 मीटर रिले और महिला 4×100 मीटर रिले में श्रीलंका और मालदीव की टीमें भी भाग लेंगी. इससे इन दौड़ को ओलंपिक क्वालीफिकेशन का अंतरराष्ट्रीय दर्जा मिला है.

ये भी पढ़े : क्यों कैंसिल होगी भारतीय टीम की छुट्टियां, जानें पूरा मामला

पुरुष वर्ग में ऊंची कूद के एथलीट तेजस्विन शंकर 2.33 मीटर के ओलंपिक क्वालीफाइंग मार्क को हासिल करने की कोशिश करेंगे. उनके विश्व रैंकिंग के आधार पर क्वालीफाई करने की संभावना कम है. वैसे अभी तक 4×400 मीटर मिश्रित रिले टीम के अलावा 11 एथलीट ओलंपिक के लिये क्वालीफाई कर लिए है.

हिमा और दुती 4×100 मीटर रिले टीम का भी हिस्सा हैं जो ओलंपिक में जगह बनाने की कोशिश करेगी. इसमें इन दोनों के अलावा अर्चना सुसींद्रन और एस धनलक्ष्मी भी हैं.

आईजीपी-4 में उन्होंने राष्ट्रीय रिकार्ड बनाया लेकिन 43.37 सेकेंड का उनका समय रोड टू तोक्यो लिस्ट में शीर्ष 16 में जगह बनाने के लिये पर्याप्त नहीं था. उन्हें कम से कम 43.05 सेकेंड से कम का समय निकालना होगा. भारतीय टीम अभी 20वें स्थान पर है.

गौरतलब है कि विश्व एथलेटिक्स ने ये टूर्नामेंट ‘बी’ ग्रेड में किया है और कुछ शीर्ष एथलीट इस पांच दिवसीय टूर्नामेंट में क्वालीफाइंग मानदंड पूरा करके ओलंपिक में जगह बनाने या अपनी रैकिंग में सुधार करके क्वालीफाई करने का मौका पा सकते है.

कड़े कोरोना मानदंडों के तहत खेले जाने वाली चैंपियनशिप पहले बेंगलुरू में आयोजित की जानी थी लेकिन शीर्ष खिलाड़ी यहां राष्ट्रीय खेल संस्थान (एनआईएस) पटियाला में प्रैक्टिस कर रहे हैं और इसलिए टूर्नामेंट का आयोजन यहीं करने का फैसला लिया गया.


Share This News