July 29, 2021

खो जाने के डर से तू क्यों है ला-पता चुन ले अब राह तू, है ढूंढता रास्ता………..

Share This News

महामारी की दूसरी लहर के बाद हम सभी न्यू नॉर्मल की नई उम्मीद के साथ आगे बढ़ रहे हैं, इसी बीच 17 वर्षीय गायक ओम भालेराव ने जाने माने भारतीय फिल्म कम्पोज़र सिद्धार्थ महादेवन के साथ मिलकर दिल को छू जाने वाला गीत ‘कर फतेह इंडिया’ रिलीज़ किया है- जो उम्मीद, उत्साह और आशा का संदेश देता है।

सिद्धार्थ महादेवन और ओम भालेराव ने रिलीज़ किया नया गीत-कर फतेह इंडिया

मीर देसाई द्वारा कम्पोज़ किया गया यह गीत देश को एक उज्जवल भविष्य की ओर बढ़ने के लिए प्रेरित करता है और लोगों के कल्याण का संदेश देता है। कोविड-19 से लम्बी लड़ाई लड़ने के बाद अब हमारा देश फिर से खुुली हवा में सांसे लेने के लिए तैयार है। यह गीत इस सामुहिक लड़ाई में हमारे संघर्ष, जीत और नुकसान के प्रति श्रृद्धांजलि है।

यह देश के सभी कारोबारों को प्रेरित और प्रोत्साहित करने की दिशा में अनूठी पहल है, जो विभिन्न उद्योगों से जुड़े सभी लोगों को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती है, ताकि हमारी अर्थव्यवस्था फिर से पटरी पर लौटने लगे।

गीत के बोल -‘कर फतेह तू’- सुनने वाले व्यक्ति को सकारात्मकता एवं उम्मीदों के साथ जोड़ते हैं। गीत के अन्य छंद भी इस बात पर रोशनी डालते हैं कि किस तरह हमारे देश ने इतनी कड़ी मुश्किलों पर जीत हासिल की, यह गीत श्रोताओं में एक नया जोश और उत्साह पैदा करता है।

सुनने में बेहद मधुर और आकर्षक लगने वाला यह गीत क्लासिकल एवं आधुनिक संगीत का बेहतरीन संयोजन है। यह श्रोताओं के मन में शांत भावना का संचार करता है और सार्थक बोल के साथ उन्हें आत्मनिरीक्षण के लिए प्रेरित करता है। नए गायक ओम भालेराव और दिग्गज संगीतज्ञ सिद्धार्थ महादेवन ने इस खूबसूरत गीत को अपने सुरों से सजाया है।

ये भी पढ़े : भोपाल में एक महीने तक चलेगी आयुष्मान खुराना की फिल्म डॉक्टर जी की शूटिंग

सुरीली आवाज़ और गिटार की आकर्षक धुनों के साथ गायक लोगों के दिल को छू जाने वाला संदेश दे रहे हैं कि ‘हर अंधेरी सुरंग के बाद रोशनी की किरण ज़रूर दिखाई देती है।’  इस गीत के बारे में बात करते हुए ओम भालेराव ने कहा, ‘‘यह गीत महामारी के बाद की दुनिया में देश को सावधानी के साथ सुचारू रूप से आगे बढ़़ाने के लिए अनूठा प्रयास है।

अगर हम चाहते हैं कि हमारा जीवन फिर से सामान्य हो जाए तो इसके लिए टीकाकरण सबसे ज़रूरी है। इस गीत के माध्यम से हम लोगों को प्रेरित करना चाहते हैं कि वे जल्द से जल्द टीका लगवाएं। हम इस मुश्किल समय से उबरने में उनकी मदद करना चाहते हैं।

इस मुश्किल लड़ाई में हम सभी एक दूसरे के साथ रहे हैं और समय आ गया है कि इसी तरह एक साथ आगे बढ़ते हुए हम देश को फिर से सामान्य स्थिति में लेकर आए।’ गायक सिद्धार्थ महादेवन ने कहा, ‘‘यह गीत लोगों में सकारात्मक भावना का संचार करेगा और उनमें फिर से एक नया भरोसा लेकर आएगा।

दिल को छू जाने वाले गीत के बोल और मधुर संगीत निराशा को दूर कर उम्मीद बनाए रखने का संदेश देते हैं। यह गीत मेरे दिल के बेहद करीब है और मुझे पूरा विश्वास है कि यह हर देशवासी को आकर्षित करेगा और उन्हें उत्साह के साथ आगे बढ़ने और हमारी दुनिया को कोविड मुक्त बनाने के लिए प्रेरित करेगा।’’

यह गीत पूरे देश को प्रोत्साहित करने में इन गायकों के योगदान को दर्शाता है जो लोगों को टीका लगवाने के लिए प्रेरित कर रहे हैं क्योंकि महामारी से उबरने का यही एकमात्र तरीका है।


Share This News