July 28, 2021

इस वजह से ओलंपिक में रोज की जाएगी कोरोना जांच

Share This News

जुलाई में टोक्यो ओलंपिक का आयोजन होना है. इसी बीच जापान ने कोरोना के डेल्टा वैरिएंट से जूझ रहे देशों को लेकर बड़ा फैसला हुआ है कि ऐसे देशों को अपने एथलीट्स को टोक्यो भेजने से पहले 7 दिन तक हर रोज कोरोना जांच की जाएगी.

जापान ने इसके लिए प्लान तैयार किया है. वो जल्द इन देशों को अपनी योजना के बारे में बता सकते हैं. जापान ने सभी विदेशी एथलीट को टोक्यो रवाना होने से पहले 4 दिन में 2 बार कोरोना जांच कराने के लिए कहा है.

जापानी अखबार योमिउरी शिमबन ने जापानी सरकार के हवाले से कहा कि जापान द्वारा बनाए जा रहे नए नियम में भारत, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान, श्रीलंका और अफगानिस्तान 6 देश हैं. इन सभी देशों को 1 जुलाई के बाद अपने खिलाड़ियों को 7 दिन के लिए आइसोलेशन करके हर रोज जांच करवाने के लिए कहा जाएगा.

ये भी पढ़े : बजरंग पुनिया चोटिल, आकलन में लगेंगे 48 घंटे

ओलंपिक की शुरुआत 23 जुलाई से होगी. इसकी मेजबानी पिछले साल होनी थी, पर कोरोना की वजह से इस पोस्टपोन किया गया था. ओलंपिक मिनिस्टर तमायो मारुकावा ने कहा कि युगांडा की ओलंपिक टीम का एक मेंबर टोक्यो पहुंचने के बाद कोरोना पॉजिटिव हुआ.

उसमें डेल्टा वैरिएंट मिला है. इससे हमारे देश में नया इन्फेक्शन आ सकता है. हम अपने देश के लोगों और बाकी खिलाड़ियों की सुरक्षा को लेकर ऐसा बिलकुल नहीं चाहते.

कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच भारत में डेल्टा प्लस के मामले लगातार सामने आ रहे हैं. देश में डेल्टा प्लस वेरिएंट के मामले बढ़कर 52 हुए हैं जो अब तक कुल 12 राज्यों से सामने आये हैं.

इसमें सबसे ज्यादा 22 मामले महाराष्ट्र से सामने आये हैं. इसके अलावा मध्यप्रदेश में 8, केरल में 3, पंजाब और गुजरात 2-2, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, राजस्थान, जम्मू-कश्मीर, हरियाणा और कर्नाटक में एक-एक मामले की पुष्टि की गई है.


Share This News