July 25, 2021

इस वजह से नहीं मनाया जाएगा ओलंपिक से जुड़ा जश्न

फाइल फोटो सोशल मीडिया

Share This News

टोक्यो ओलंपिक की शुरुआत से 11 दिन पहले जापान की राजधानी में सोमवार से आपातकाल लागू हो गया है, क्योंकि यहां नए मामलों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है और अस्पतालों के बिस्तर भरने लगे हैं. छह सप्ताह का ये आपातकाल 22 अगस्त तक लागू रहेगा. कोरोना के आगाज होने के बाद टोक्यो में ये चौथी बार आपातकाल लागू होगा.

फाइल फोटो सोशल मीडिया

नये आपातकाल का मुख्य लक्ष्य बार और रेस्तरां में परोसी जाने वाली शराब रोकना है, क्योंकि अधिकारी चाहते हैं कि लोग सार्वजनिक रूप से इकट्ठा होने की जगह घर में रहें और टेलीविजन पर इन खेलों का लुत्फ उठाएं. आपातकाल के दौरान पार्क, संग्रहालय, थिएटर और अधिकांश दुकानें एवं रेस्तरां को रात 8 बजे बंद करने का अनुरोध हुआ है.

टोक्यो के निवासियों से गैर जरूरी चीजों के लिए बाहर निकलने से बचने और घर से काम करने का अनुरोध हुआ है. लोगों को मास्क पहनने और अन्य सुरक्षा उपायों को अपनाने के लिए कहा गया है. इस आपातकाल से टोक्यो की 1.4 करोड़ जनता के साथ चिबा, सैतामा और कानागावा जैसे आसपास के शहरों के कुल 3.1 करोड़ लोग प्रभावित होंगे.

ये भी पढ़े : टोक्यो ओलंपिक की टिकट समिति ने इसलिए मांगी दर्शकों से माफ़ी

इस आपातकाल के उपायों को ओसाका और दक्षिणी द्वीप ओकिनावा में भी लागू होंगे. नए बैन के बाद फैन्स इन खेलों को सिर्फ  टेलीविजन पर देख पाएंगे. टोक्यो में शनिवार को कोरोना के 950 मामले सामने आये जो पिछले दो महीने में सबसे ज्यादा है.

जापान में इसके लगभग 8.20 लाख मामले पाए गए है जिसमें से मरने वालो की संख्या 15,000 है. टोक्यो के लोग बार-बार लगने वाले आपातकाल से उब गये है और इसमें अब सरकार का सहयोग नहीं कर रहे है.


Share This News