Breaking News
Home / उत्तर-प्रदेश / गन्ना समितियों द्वारा पर्ची निर्गमन की नई व्यवस्था के बेहतर परिणाम : सुरेश राणा
suresh rana

गन्ना समितियों द्वारा पर्ची निर्गमन की नई व्यवस्था के बेहतर परिणाम : सुरेश राणा

suresh ranaलखनऊः उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ द्वारा गन्ना कृषकों के हित में लिये गये निर्णयों एवं गन्ना मंत्री सुरेश राणा के अथक प्रयासों से गन्ना समितियों द्वारा पर्ची निर्गमन की नई व्यवस्था के बेहतर परिणाम मिलने शुरू हो गये है. प्रदेश के गन्ना मंत्री ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश में पर्ची निर्गमन कार्य की समीक्षा में पाया कि इस वर्ष गन्ना समितियों द्वारा पर्ची प्रिन्टिंग एवं निर्गमन की नई व्यवस्था लागू किये जाने के उत्साहजनक परिणाम प्राप्त हुए हैं.

वैसे गत एक दशक से भी ज्यादा समय से गन्ना आपूर्ति हेतु किसानों को पर्ची निर्गमन का कार्य चीनी मिलों द्वारा किया जा रहा था. गन्ना सर्वेक्षण कार्य में चीनी मिलों द्वारा असहयोग करने के कारण गन्ना मंत्री ने सर्वे, सट्टा फीडिंग, कैलेंडरिंग व पर्ची निष्कासन का कार्य प्रदेश की गन्ना समितियों द्वारा स्वयं या आउट सोर्सिंग एजेंसी से कराने का निर्णय लिया.

gannaइसके चलते पश्चिमी उ.प्र. में सहारनपुर एवं मेरठ मण्डल में गत वर्ष के माह दिसम्बर में 6,27,596 कृषकों को जारी 23,91,984 पर्चियों के सापेक्ष इस वर्ष 6,78,251 कृषकों को 24,42,452 पर्चियां निर्गत की गई. इस प्रकार अधिक कृषकों को अधिक संख्या में पर्चियां निर्गत की गई. 60 कुंतल तक बेसिक कोटा वाले छोटे कृषकों को भी गत वर्ष जारी 1,55,089 पर्चियों के सापेक्ष इस वर्ष 2,03,003 पर्चियां जारी की गई. गत वर्ष माह दिसम्बर तक मात्र 66,230 छोटे कृषकों को पर्चियां जारी की गई जबकि इस वर्ष 76,766 छोटे कृषकों को पर्चियां निर्गत की जा चुकी हैं. इस प्रकार गत वर्ष के सापेक्ष 10,536 अधिक छोटे कृषकों को पर्चियां निर्गत की गई हैं. प्रत्येक गन्ना समिति स्तर पर इन्क्वायरी टर्मिनल स्थापित किये गये है मोबाइल एप से भी सर्वे, सट्टा, पर्ची की जानकारी कृषकों को दी जा रही है. गन्ना किसानों को पेपर पर्ची के साथ एसएमएस द्वारा उनके मोबाइल पर भी पर्ची भेजी जा रही है जिससे पर्ची नष्ट करने वाले माफियाओं पर अंकुश लगा है और 11,833 फर्जी सट्टे भी बंद किये गये, तथा रिकार्ड 55049 नये सदस्य बने है.

पूर्णतः पारदर्शी एवं विकेन्द्रित पर्ची निर्गमन वर्तमान व्यवस्था में प्रिंट के साथ किसान के मोबाइल पर एसएमएस द्वारा पर्ची भेजी जा रही है और वह पर्याप्त समय मिल जाने के कारण ताजा एवं साफ सुथरा गन्ना चीनी मिल को आपूर्ति कर रहा हैं. ताजा गन्ने की आपूर्ति के कारण पश्चिमी उ.प्र. में औसत चीनी परता में 0.49 प्रतिशत में उल्लेखनीय वृद्धि हुई और औसत चीनी परता गत वर्ष के 10.07 प्रतिशत से बढ़कर 10.56 हो गई है. कुल गन्ना पेराई भी गत वर्ष के 531.07 लाख कुं. से बढ़कर 560.09 लाख कुंतल हो गयी है.

गन्ना मंत्री ने बताया कि बेहतर व्यवस्था के फलस्वरूप किसान चीनी मिलों को गन्ने की आपूर्ति कर रहा है, पश्चिमी उ.प्र. में गत वर्ष 18 खांडसारी इकाइयों द्वारा 31 दिसम्बर तक 9.78 लाख कुन्टल गन्ना खरीदा गया इसके सापेक्ष इस वर्ष 22 खांडसारी इकाईया संचालित हुई लेकिन उनके द्वारा 31 दिसम्बर तक 7.45 लाख कुन्टल गन्ना खरीदा गया है. इससे गत वर्ष के सापेक्ष खांडसारी ईकाईयों में वृद्धि के बावजूद उन्हें कम गन्ना प्राप्त हो रहा है.

Check Also

sainik

सहायक अध्यापकों की भर्ती में भूतपूर्व सैनिक भी आरक्षित वर्ग में लाभार्थी 

  लखनऊ: प्रदेश के अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा डा. प्रभात कुमार ने बताया कि सहायक …

haj

हज-2019 : अब तीन किश्तों में जमा कर सकते है हज यात्रा की रकम

लखनऊ: उत्तर प्रदेश राज्य हज समिति के सचिव विनीत कुमार श्रीवास्तव ने यहां बताया कि हज …

sss

प्रश्न-पत्र रखे जाने वाले स्थान पर 24 घण्टे होगी सीसीटीवी कैमरे की निगरानी 

लखनऊ: प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डा.दिनेश शर्मा ने माध्यमिक शिक्षा परिषद यूपी, प्रयागराज द्वारा संचालित वर्ष …

tennis

अंशुमान सिंह, ओम यादव, सिद्धार्थ यादव और सताक्षी तिवारी उलटफेर भरी जीत के साथ सेमीफाइनल में

लखनऊ। यूपी के अंशुमान सिंह, ओम यादव, सिद्धार्थ यादव और सताक्षी तिवारी ने आल इंडिया …

sapna chahudry

ओफ्फोह: हर‍ियाणवी डांसर और स‍िंगर सपना चौधरी ने कब और क्यों बरसाई गोलियां 

मुंबई । लाखों लोगों के द‍िलों पर अपने ठुमकों की वजह से राज करने वाली जानी …

sara

आखिर रणवीर ये कब बोले- सारा किसी भी एंगल से मेरी बहन नहीं 

मुंबई । इन दिनों सारा अली खान और रणवीर सिंह हाल ही में 28 दिसंबर को …