July 24, 2021

CMS Student कनिष्क को अमेरिका की ड्रेक्सल यूनिवर्सिटी से स्कॉलरशिप

Share This News

लखनऊ। सिटी मान्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) के प्रतिभाशाली छात्र कनिष्क कुमार सिंह को उच्चशिक्षा हेतु अमेरिका की ड्रेक्सल यूनिवर्सिटी द्वारा 1,59,200 अमेरिकी डालर की स्कॉलरशिप से नवाजा गया है. कनिष्क को यह स्कॉलरशिप चार वर्षीय उच्चशिक्षा अवधि के दौरान प्रदान की जायेगी.

अमेरिका एवं इंग्लैण्ड के 10 अन्य विश्वविद्यालयों में भी स्कॉलरशिप के साथ उच्चशिक्षा हेतु चयनित

कनिष्क कुमार सिंह
कनिष्क कुमार सिंह

इसके अलावा, अमेरिका एवं इंग्लैण्ड के 10 अन्य विश्वविद्यालयों में भी इस मेधावी छात्र को स्कॉलरशिप के साथ उच्चशिक्षा हेतु आमन्त्रित किया गया है, जिनमें अमेरिका की एरिजोना स्टेट यूनिवर्सिटी, मियामी यूनिवर्सिटी, यूनिवर्सिटी ऑफ सिनसिनाटी, यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सस डलास, यूनिवर्सिटी ऑफ विस्कॉन्सिन-मैडिसन, बेलोइट कालेज एवं फुटहिल एण्ड डि एंजा कालेज एवं इंग्लैण्ड की स्टैफोर्डशायर यूनिवर्सिटी, सोलेंट यूनिवर्सिटी एवं यूनिवर्सिटी ऑफ ग्रीनविच शामिल है.

इस प्रकार सीएमएस के एक और प्रतिभाशाली छात्र ने अपनी लगन, प्रतिभा व शैक्षणिक उत्कृष्टता के दम पर विदेश के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों में स्कॉलरशिप के साथ चयनित होकर लखनऊ का नाम गौरवान्वित किया है. सीएमएस के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी हरि ओम शर्मा ने बताया कि प्रतिवर्ष सीएमएस के 100 से अधिक मेधावी छात्र विश्व के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों में उच्चशिक्षा हेतु चयनित होते हैं.

CMS के कैम्ब्रिज स्कूल ने दिया उत्कृष्ट IGCSE (कक्षा 10) का परीक्षा परिणाम

इस वर्ष अभी तक सीएमएस के 60 से अधिक छात्र अमेरिका, इंग्लैण्ड, कनाडा, आस्ट्रेलिया, जापान, सिंगापुर, जर्मनी आदि विभिन्न देशों के ख्यातिप्राप्त विश्वविद्यालयों में चयनित हो चुके है, जिनमें से अधिकतर को स्कॉलरशिप प्राप्त हुई है.

श्री शर्मा ने आगे कहा कि सीएमएस  छात्रों के दृष्टिकोण व्यापक बनाने व उनकी प्रतिभा को प्रोत्साहित करने हेतु सदैव प्रयासरत है और इसी कड़ी में छात्रों को भारत में एवं विदेशों में उच्चशिक्षा प्राप्त करने का अवसर प्रदान कर रहा है.

सीएमएस  प्रदेश में एकमात्र एसएटी (सैट) एवं एडवान्स प्लेसमेन्ट (एपी) टेस्ट सेन्टर है जो उत्तर प्रदेश एवं आसपास के अन्य राज्यों के छात्रों को विश्व के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों में स्कॉलरशिप के साथ उच्च शिक्षा प्राप्त करने में मदद कर रहा है. इससे पहले, विदेश में उच्चशिक्षा प्राप्त करने के इच्छुक प्रदेश के छात्रों को सैट परीक्षा के लिए दिल्ली जाना पड़ता था.


Share This News