July 25, 2021

कोरोना से मौतो पर मिलना चाहिए मुआवजा लेकिन सरकार तय करे राशि : सुप्रीम कोर्ट

फाइल फोटो सोशल मीडिया

फाइल फोटो सोशल मीडिया

Share This News

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना से मरने वालो के  परिजनों को मुआवजा देने की मांग वाली याचिका पर फैसला देते हुए कहा कि परिजनों को मुआवजा देना चाहिए. इस बारे में राशि का निर्धारण केंद्र सरकार द्वारा किया जायेगा. कोर्ट ने साथ में ये भी कहा कि कोविड-19 से  मरने वालों के परिवारों को अनुग्रह राशि के भुगतान के लिए 6 सप्ताह के अन्दर  दिशा-निर्देश तैयार करे.

केंद्र सरकार को 6 सप्ताह के अंदर दिशा-निर्देश तैयार करने का निर्देश

फाइल फोटो सोशल मीडिया
फाइल फोटो सोशल मीडिया

इस केस में सुप्रीम कोर्ट ने खुद मुआवजे की  राशि तय नहीं की लेकिन साथ में ये भी बोला कि एनडीएमए के तहत राष्ट्रीय प्राधिकरण द्वारा यह राशि दी जाएगी और अदालत ने कोरोना से हुई मौत के  मामले में  चार लाख रुपये मुआवजा देने की मांग नहीं मानी. वैसे केंद्र सरकार ने कोरोना पीडि़तों के परिवारों को मुआवजा देने के अनुरोध वाली याचिकाओं का विरोध किया था.

ये भी पढ़े : दिल्ली पुलिस ने दर्ज की पॉक्सो और आईटी एक्ट में एफआईआर, ट्विटर ने दी सफाई 

केंद्र सरकार ने अपने हलफनामे में कहा था कि ‘राजकोषीय सामर्थ्य का मुद्दा नहीं है लेकिन राष्ट्र के संसाधनों का तर्कसंगत, विवेकपूर्ण और सर्वोत्तम उपयोग करने के चलते कोविड से जान गंवाने वालों के परिवारों को चार लाख की अनुग्रह राशि नहीं दी जा सकती.

इस मामले में केंद्र और राज्यों को कोरोना वायरस से जान गंवाने वालो के परिवारों को 4-4 लाख रुपये मुआवजा देने और मृत्यु प्रमाण पत्र जारी करने के लिए एक समान नीति बनाने का अनुरोध किया था.

इस मामले में कोर्ट दो अलग-अलग याचिकाओं पर सुनवाई कर रही थी. बताते चलें कि सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार की वो याचिका खारिज कर दी थी जिसमें बोला गया था कि कोरोना से मरने वालों के परिजनों को अनुग्रह राशि नहीं दी जा सकती है.


Share This News