Breaking News
Home / बिजनेस / पुराने पीसी के रखरखाव, मरम्मत, कम उत्पादकता के कारण अतिरिक्त लागत का पड़ता है भार
Farhana Haque, Group Director, Devices, Microsoft India discussing SMEs increasing their growth by using modern PCs

पुराने पीसी के रखरखाव, मरम्मत, कम उत्पादकता के कारण अतिरिक्त लागत का पड़ता है भार

Farhana Haque, Group Director - Devices, Microsoft India discussing purchase of several new PCs at the cost of mantaining an older PCलखनऊ:चार साल से पुराने पीसी उपयोग कर रहे  एस एम ई  को प्रति डिवाइस 93500 रूपये खर्च करने पड़ते है. ये बात  माइक्रोसॉफ्ट ने भारत में एसएमई पर टेकआइल द्वारा किए  सर्वेक्षणसे पता चली.  टेकआइल के इस सर्वे के अनुसार पुराने पीसी का इस्तेमाल करने के कारण मरम्मत, उत्पादकता की कमी एवं सुरक्षा में जोखिम के चलते उपयोगकर्ता को यह अतिरिक्त खर्च उठाना पड़ता है. सर्वेक्षण में यह भी पता चला है कि चार साल से पुराने एक पीसी की रखरखाव में आने वाले लागत पर तीन या अधिक आधुनिक पीसी खरीदे जा सकते हैं.यह सर्वेक्षण लखनऊ और भारत के 20 अन्य शहरों में एसएमई पर किया गया.सर्वेक्षण के अनुसार भारत में एसएमई में इस्तेमाल किए जाने वाले 61 फीसदी से ज़्यादा पीसी में विंडोज़ के पुराने वर्ज़न का इस्तेमाल किया जा रहा है. इन्हें विंडोज़ 10 में अपग्रेड करने से पीसी को अधिक सुरक्षित, उत्पादक और सहज बनाया जा सकता है.
विंडोज़ 10 में अपग्रेड करने से अधिक सुरक्षित, उत्पादक और सहज बनाया जा सकता है पीसी
उत्तरप्रदेश में 89 लाख से अधिक एमएसएमई हैं, यह संख्या भारत में सबसे अधिक है, यह उद्यम 1.65 करोड़ से अधिक लोगों को रोज़गार देते हैं. सीआईआई की रिपोर्ट के अनुसार ये एमएसएमई राज्य के ओद्यौगिक आउटपुट में तकरीबन 60 फीसदी का योगदान देते हैं. पीसी (पर्सनल कम्प्यूटर) एसएमई के संचालन में बेहतर दक्षता, बेहतर उत्पादकता और बेहतर विकास के लिए मार्ग प्रशस्त करते हैं. हालांकि जब एक पीसी चार साल से अधिक पुराना होजाता है, इसके इस्तेमाल की लागत कई गुना बढ़ जाती है. यह अतिरिक्त लागत पीसी की मरम्मत, रखरखाव, उत्पादकता में कमी की वजह से होती है. इस बारे में फरहाना हक (ग्रुप डायरेक्टर- डिवाइसेज़, माइक्रोसॉफ्ट इण्डिया के अनुसार, ‘‘भारतीय एसएमई (लघु एवं मध्यम उद्योग) अपने संचालन को प्रभावी बनाने तथा नए उपभोक्ताओं के साथ जुड़ने के लिए बड़े पैमाने पर तकनीक का इस्तेमाल कर रहे हैं, जिसके चलते कारोबारों का विकास तेज़ी से हो रहा है. माइक्रोसॉफ्ट विंडोज़ 10 पावर्ड पीसी उपलब्ध कराने के लिए पीसी निर्माताओं के साथ मिलकर काम कर रहा है, जो एसएमई की कारोबार संबंधी ज़रूरतों को पूरा करते हैं, उनके कारोबार की उत्पादकता बढ़ाने में मदद करते हैं और कर्मचारियों को आधुनिक तकनीक के द्वारा सहयोग प्रदान करते हैं.
नए पीसी के चलते एसएमई को हो सकती है सालाना 93500 रुपए की बचत
w10सर्वेक्षण किए गए 30 फीसदी से अधिक एसएमई चार साल से पुराने पीसी इस्तेमाल कर रहे हैं. सर्वेक्षण में यह भी पाया गया है कि एसएमई नए पीसी खरीदने से घबराते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि वर्तमान में वे जिन ऐप्लीकेशन्स का इस्तेमाल कर रहे हैं, वे अपग्रेडेड पीसी पर काम नहीं करेंगे, या उनके पास नए पीसी खरीदने के लिए धनराशि नहीं होती. एसएमई मालिक अक्सर अल्पकालिक लागत पर ध्यान केन्द्रित करते हैं, जो ज़्यादातर मामलों में सही नहीं होता, बल्कि अक्सर इसकी वज़ह से ज़्यादा लागत आती है और ज़्यादातर मामलों में पुराने पीसी की मरम्मत पर खर्च होने वाली लागत नए पीसी की खरीद की तुलना में अधिक होती है. सर्वेक्षण में पाया गया कि आधुनिक पीसी का इस्तेमाल करने वाले एसएमई की उत्पादकता बढ़ी है, लागत में कमी आई और सुरक्षा का स्तर बढ़ा है.
माइक्रोसॉफ्ट टेकआइल रिपोर्ट में तथ्य का खुलासा 
 सर्वे के परिणाम 
1.  66 फीसदी एसएमई ने पाया कि पुराने पीसी के बजाए क्लाउड एवं मोबिलिटी समाधानों से पावर्ड नए पीसी अपनाने से उनकी दक्षता में सुधार हुआ।
2.  63 फीसदी एसएमई ने पाया कि वे नए पीसी पर ज़्यादा सुरक्षित हैं और अपने डेटा को सिक्योर रख सकते हैं।
3.  58 फीसदी एसएमबी के अनुसार नया पीसी अपनाने से उनकी रखरखाव की लागत कम हुई।
4. 41 फीसदी एसएमबी ने माना कि नए पीसी ने उनके कर्मचारी ज़्यादा उत्पादकता हो गए हैं।
विंडोज़ 10 ऑपरेटिंग सिस्टम के फायदे: 
उच्च उत्पादकताः विंडोज़ 10 अपने बिल्ट-इन टूल्स एवं आधुनिक फीचर्स के साथ उपयोगकर्ता को सहज अनुभव प्रदान करता है, यह उपयोगकर्ता के काम को अधिक प्रभावी बनाता है। नया पीसी 4 साल पुराने पीसी की तुलना में 2.1 गुना तेज़ी से मल्टी टास्किंग करता है, जिससे कर्मचारी की उत्पादकता बढ़ती है।
इंटेलीजेन्ट सिक्योरिटीः पुराने पीसी का इस्तेमाल करने से डेट चोरी की संभावना बढ़ जाती है। विंडोज़ 10 अडवान्स्ड सिक्योरिटी के साथ एसएमई को हैक और साइबर-अटैक से सुरक्षित रखता है।
आसान डिप्लॉयमेन्टः विंडोज़ 10 के साथ आईटी डिप्लॉयमेन्ट और अपडेट्स करना आसान हो जाता है, इसके अलावा, विंडोज़ 7 ऐप्लीकेशन्स को आसानी से विंडोज़ 10 में अपग्रेड किया जा सकता है।
 प्रत्यास्थ प्रबंधनः विंडोज़ 10 स्मार्टफोन और टेबलेट की तरह मोबाइल डिवाइसेज़ के साथ सहज और बेहतर इंटीग्रेशन उपलब्ध कराता है।

Check Also

011

इलेक्ट्रिक वाहनों की सीरीज के साथ ‘ सहारा इवाॅल्स ’ ने ऑटोमोबाइल क्षेत्र में रखा कदम

लखनऊ । ‘सहारा इवाॅल्स’ ब्रांड के तहत सहारा समूह ने देश की इलेक्ट्रिक वाहनों की विशाल श्रृंखला …

4

जॉन डियर ने पेेेश किये ट्रैक्टर के सात नये मॉडल

इंदौर ।  उपकरणों के क्षेत्र में लीडर और अभिनव उत्पादों व सेवाओं के लिए जाने …

Photo Dabur 1

डाबर यूपी में 19,00,000 किग्रा प्लास्टिक वेस्ट करेगा रीसायकल

लखनऊ: पर्यावरण स्थिरताको लेकर अपनी प्रतिबद्धता की तरफ़ आगे बढ़ते हुए भारत की सबसे बड़ी विज्ञान-आधारित …

PNB 1

भारतीय बैंकिंग क्षेत्र विकास के पथ पर अग्रसर: वेंकैया नायडू

लखनऊ। भारत के सबसे बड़े सार्वजनिक बैंकों में से एक पंजाब नैशनल बैंक ने अपना …

Somany showroom 3

सोमानी सेरेमिक्स के नेटवर्क का यूपी में विस्तार जारी

लखनऊ। भारतीय सेरेमिक्स उद्योग में अग्रणी सोमानी सेरेमिक्स लिमिटेड ने लखनऊ में सोमानी ग्राण्ड शोरूम-श्री …

bsnl

बीएसएनएल यूपी (पूर्वी) सिम बिक्री में अव्वल

लखनऊ: इंदिरानगर टेलीफोन एक्सचेंज सभागार में सोमवार को मुख्य महाप्रबंधक यूपी (पूर्वी) दूरसंचार परिमंडल, आरसी राय की अध्यक्षता में  एसएसए प्रमुखों की समीक्षा बैठक …