July 25, 2021

तीन माह में पता लगाये, कैसे हुई कोरोना संक्रमण की शुरुआत : बाइडन

फाइल फोटो सोशल मीडिया

फाइल फोटो सोशल मीडिया

Share This News

पूरी दुनिया में फ़ैल रहे कोरोना वायरस का जिम्मेदार चीन को माना जाता रहा है लेकिन चीन इसको ख़ारिज करता रहा है. इस बीच कोरोना की पारदर्शी जांच की मांग के बाद ही अमेरिका से एक नया अपडेट मिला है.

दरअसल कोरोना वायरस की उत्पत्ति के मामले में अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने इंटेलिजेंस एजेंसियों को आदेश दिया है कि वे ये  जांच करें कि कोरोना वायरस कहां से आया और तीन माह के अन्दर रिपोर्ट की भी मांग की. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के  जारी बयान के अनुसार अमेरिकी इंटेलिजेंस एजेंसियों को कहा गया है कि वो अपनी कोशिश तेज करे और 90 दिन के अन्दर इसकी रिपोर्ट पेश करें’.

अमेरिका के राष्ट्रपति ने इंटेलिजेंस एजेंसियों को दिया आदेश

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन
अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन

वैसे कोरोना वायरस को लेकर चीन के ऊपर कई देशो का संदेह रहा है.  अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप  कोरोना वायरस को चीनी वायरस कहते थे. वही कुछ दिन पहले एक अखबार ने अमेरिकी खुफिया रिपोर्ट के हवाले से खबर प्रकाशित की थी कि कुछ ऐसे सबूत हैं जिससे पता चलता है कि ये वायरस चीन की एक प्रयोगशाला से लीक हुआ है.

कोरोना की पारदर्शी जांच की मांग, अमेरिका ने चीन पर साधा निशाना 

वही चीन ने इन खबरों को खारिज कर दिया था कि ये वायरस अमेरिका की किसी लैब से लीक हुआ है. बताते चले कि कोरोना वायरस संक्रमण का सबसे पहला केस 2019 के आखिरी में चीन के वुहान शहर में मिला था.

फाइल फोटो सोशल मीडिया
फाइल फोटो सोशल मीडिया

इस बारे में चीनी प्रशासन ने शुरू में कहा था कि संक्रमण के केस वुहान की एक सीफूड मार्केट से मिले थे और यह वायरस जानवरों से इंसानों में पहुंचा है. वैसे कोरोना वायरस के अब तक 16 करोड़ 80 लाख से अधिक केस मिल चुके हैं जबकि 35 लाख की जान जा चुकी है.


Share This News