July 29, 2021

भारत ने झटके 15 पदक, विकास व वरिंदर ने सेमीफाइनल में बनाई जगह

Share This News

दुबई में हो रही 2021 एएसबीसी महिला एवं पुरुष एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप के तीसरे दिन भारत से विकास कृष्ण ने ईरान के मोसलिम माघसोदी मल अमीर को हारकर सेमीफाइनल में जगह बनायीं.

भारत ने इस चैंपियनशिप में कुल 15 पदक पक्के किये है, जो एक रिकार्ड है. भारत ने 2019 में कुल 13 पदक पक्के किए थे. विकास ने मोसलिम को 4-1 के अंतर से हराया और एशियाई चैंपियनशिप में अपना तीसरा पदक पक्का किया.

विकास 2015 में रजत और 2017 में कांस्य पदक जीत चुके है. एशियाई खेलों, राष्ट्रमंडल खेल और युवा मुक्केबाजी विश्व चैंपियनशिप में गोल्ड मैडल जीत चुके विकास का सेमीफाइनल में मौजूदा एशियाई खेल और एशियाई चैंपियनशिप गोल्ड मैडल चैंपियन व टाप सीड उजबेकिस्तान के बाखुरोव बोबो उस्मेन से आमना-सामना होगा.

वरिंदर (60 किग्रा) ने क्वार्टर फाइनल मैच में फिलिपींस के सैमुएल डेला क्रूज को एकतरफा अंदाज में 5-0 से हराया और कांस्य पदक पक्का किया.

बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (बीएफआई) और संयुक्त अरब अमीरात बॉक्सिंग फेडरेशन की संयुक्त आयोजन में हो रहे इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में वरिंदर का ईरान के डानियाल शाहबक्श से आमना-सामना होगा.

वरिंदर से पहले टोक्यो ओलंपिक के लिए टिकट अपने नाम कर चुके अमित पंघल ने सेमीफाइनल में पहुंचे. मौजूदा एशियाई खेल एवं एशियाई चैंपियन अमित को 52 किग्रा वर्ग के क्वार्टर फाइनल मैच में मंगोलिया के मक्केबाज खारखू एंखमानदाख के खिलाफ जीत हासिल करने के लिए मशक्कत करनी पड़ी.

धीमी शुरुआत के बाद लय पकड़ने वाले अमित ने आखिरकार 3-2 की जीत के साथ अंतिम-4 का टिकट हासिल कर लिया. उनका सेमीफाइनल में कजाकिस्तान के मुक्केबाज साकेन बिबोसिनोव से मैच होगा. अमित ने साकेन को 2019 विश्व चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में हराया था. बाद में अमित ने अपने वर्ग का गोल्ड मैडल अपने नाम किया था.

2019 में विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक जीत चुके साथ ही एशियाई चैंपियनशिप में अपना तीसरा पदक सुरक्षित कर लिया. इससे पहले वह 2017 में ताशकंद में लाइटफ्लाइवेट में कांस्य और 2019 में बैंकाक में गोल्ड मैडल जीत चुके हैं.

विकास और वरिंदर की जीत के साथ भारत एशियाई चैंपियनशिप में वर्ष 2019 में जीते गए 13 पदकों से आगे निकल गया. भारत ने अब तक 15 पदक सुरक्षित कर लिए हैं.

2019 में बैंकॉक में हुए चैंपियनशिप के पिछले संस्करण में भारतीय टीम ने दो गोल्ड समेत 13 पदक जीतते हुए अभूतपूर्व सफलता हासिल की थी. जो 15 खिलाड़ी पदक सुरक्षित कर चुके हैं, उनमें से 10 महिलाएं और पांच पुरुष हैं.

एशियाई मुक्केबाजी : अमित पंघल सेमीफाइनल में, मैरी कोम पेश करेंगी चुनौती

महिला वर्ग में मंगलवार को सिमरनजीत कौर (60 किग्रा), साक्षी (54 किग्रा) और जैस्मीन (57 किग्रा) ने अंतिम -4 चरण में जगह बनायीं. छह बार की विश्व चैंपियन एमसी मैरी कॉम (51 किग्रा), लालबुतसाई (64 किग्रा), लवलीना बोरगोहेन (69 किग्रा), पूजा रानी (75 किग्रा), मोनिका (48 किग्रा), स्वीटी (81 किग्रा) और अनुपमा (+81 किग्रा) सेमीफाइनल से आगाज करेगी. ये सभी महिलाएं गुरुवार को अपना मुकाबला खेलेंगी.

चैंपियनशिप के तीसरे दिन अमित, वरिंदर और विकास के अलावा आशीष कुमार (75 किग्रा) तथा नरेंद्र (+91) अन्य दो मुक्केबाज हैं जो टूर्नामेंट में जीत के साथ शुरुआत करने और देश के लिए पदक पक्का करने के इरादे से रिंग में उतरेंगे.

इस टूर्नामेंट में भारत, उज्बेकिस्तान, फिलीपींस और कजाकिस्तान जैसे मजबूत मुक्केबाजी देशों सहित 17 देशों के 150 मुक्केबाज अपनी श्रेष्ठता साबित करने की कोशिश कर रहे हैं.

शुरुआत में इस टूर्नामेंट में 27 से अधिक देशों की भागीदारी की उम्मीद थी. हाल ही में लगाए गए यात्रा प्रतिबंधों के चलते कुछ देश इसमें भाग नहीं ले सके.


Share This News