July 24, 2021

जितिन प्रसाद की बीजेपी में एंट्री, अगड़ी जातियों को लुभाने में होगी सहायक 

फाइल फोटो सोशल मीडिया

फोटो सोशल मीडिया

Share This News

नई दिल्ली: कांग्रेस को आज तब बड़ा झटका लगा जब उत्तर प्रदेश के सीनियर नेता जितिन प्रसाद ने बीजेपी ज्वाइन कर ली. वो बीजेपी मुख्यालय गए जहां उन्हें रेल मंत्री पीयूष गोयल ने पार्टी की सदस्यता दिलाई. इससे पहले उन्होंने होम मिनिस्टर अमित शाह, बीजेपी के चीफ जेपी नड्डा और रेल मंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात की थी.

इस दौरान पीयूष गोयल ने बोला कि वो उत्तर प्रदेश में लंबे समय से काम कर रहे हैं. गोयल ने कहा कि जब जितिन 27 साल के थे. तन अपने  पिता जितेंद्र प्रसाद के निधन के बाद से ही यूपी में सेवाकार्य में लगे है. वैसे पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने ब्राह्मण बिरादरी को साधने के चक्कर में सपा से गठबंधन से पहले शीला दीक्षित को सीएम कैंडिडेट घोषित किया था.

फाइल फोटो सोशल मीडिया
फोटो सोशल मीडिया

वैसे  ब्राह्मण  बिरादरी में जितिन प्रसाद की अच्छी पकड़ कही जाती है. वही जितिन प्रसाद की कांग्रेस के साफ छवि वाले नेताओं में गिनती होती हैं और अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहलेकांग्रेस के लिए उनका बीजेपी में जाना एक बड़ा झटका कहा जा सकता है.

वैसे इस बात की चर्चा तब ही होने लगी थी जब जितिन प्रसाद ने हाल ही में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को जन्मदिन की बधाई दी थी. उन्होंने अपने ट्वीट से कांग्रेस नेता होने का जिक्र भी हटा लिया था. वैसे पिछले लोकसभा चुनाव में भी उनके बीजेपी में जाने की अटकले थी लेकिन तब कांग्रेस ने उन्हें मना लिया था.

हिमंत बिस्वा सरमा ने ली असम के 15वें मुख्यमंत्री पद की शपथ

अब 18 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों का फ्री वैक्सीनेशन : पीएम मोदी 

इसके बाद कहा जाने लगा था कि वो लोकसभा चुनाव में अपनी उपेक्षा से  नाराज हैं. वैसे जितिन प्रसाद की एंट्री से बीजेपी को अगड़ी जातियों को लुभाने में मदद मिलेगी. जितिन प्रसाद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के करीबी लोगों में भी शुमार है.

बताते चले कि कांग्रेस में लंबे समय से नाराज चल रहे जितिन प्रसाद ने लोकसभा चुनाव के बाद ब्राह्मण चेतना परिषद नाम से संगठन बनाया थ. वैसे 2017 में भी विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी ने दूसरे दलों से आने वाले कई नेताओं को जगह दी थी.


Share This News