Breaking News
Home / इंटरव्यू / खेलो इंडिया यूथ गेम्स: मुश्किलों के बाद जिमनास्ट अनस की अब गोल्ड पर निगाह
Picture 1-Gymnast Md Anas

खेलो इंडिया यूथ गेम्स: मुश्किलों के बाद जिमनास्ट अनस की अब गोल्ड पर निगाह

Picture 1-Gymnast Md Anasपुणे । मोहम्मद अनस बेशक मृदुभाषी हों लेकिन वह काफी सख्त भी हैं। वह बेहद दबाव में अपनी काबिलियत के मुताबिक अच्छा प्रदर्शन न करने से निश्चित निराश होते हैं लेकिन वह हमेशा आगे बढ़ने को तैयार रहते हैं। कोल्ड वायरस में डॉक्टर द्वारा सुझाई गई दवाई लेने के बाद अनस मुश्किल में फंस गए थे लेकिन इससे बच भी गए। वह अब इस बात को साबित करने को बेताब हैं कि वह देश के सर्वश्रेष्ठ युवा जिमनास्ट हैं। पिछले साल दिल्ली में आयोजित खेलो इंडिया स्कूल गेम्स में अनस ने स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। यहां खेलो इंडिया यूथ गेम्स से पहले एक बार फिर उन्हें ब्वॉएज अंडर-21 में स्वर्ण पदक की उम्मीद है। स्टैंड्स से वह अपनी जन्मस्थली उत्तर प्रदेश की अंडर-17 टीम का हौसला बढ़ा रहे थे।
कोल्ड वायरस में डॉक्टर द्वारा सुझाई गई दवाई लेने के बाद फंसे थे मुश्किल में 
अनस ने कहा कि वह इस बात को जानकर बेहद दवाब में थे कि उनसे सभी को ब्यूनस आयर्स में होने वाले यूथ ओलम्पिक में उनके क्वालीफाई करने की उम्मीद थी। उन्होंने कहा, ‘‘परिणामस्वरुप मैं जकार्ता में खेली गई एशियन जूनियर चैम्पियनशिप में अपना सर्वश्रेष्ठ नहीं दे सका था। वॉल्ट में मैंने 13,000 अंक लिए थे लेकिन मैं अपनी काबिलियत के मुताबिक नहीं खेल सका था।’’
अनस ने कहा कि वह अब उस असफलता को पीछे छोड़ चुके हैं। बकौल अनस, ‘‘मैंने सीख लिया है और अब मैं अपना ध्यान सिर्फ खेल में सुधार करने की प्रक्रिया पर लगाऊंगा और परिणाम के बारे में चिंता नहीं करूंगा। मुझे इस बात से भी आत्मविश्वास मिला जब अनुशासन समिति ने कहा कि मैंने डॉक्टर की सलाह पर दवाई ली थी और इस वजह से उन्होंने मुझे छोड़ दिया।’’  वह अब किसी भी तरह की दवाई लेने से पहले काफी सावधान रहते हैं और अपने अनुभव के बारे में बिना हिचके साथी जिमनास्टों से बातें करते हैं। एक दबाव भरे समय से बाहर आकर अपने आप को श्री शिव छत्रपति स्पोटर्स कॉम्पलेक्स के हॉल में अपनी बात रखना, इसके लिए मानसिक तौर पर काफी मजबूती की जरूरत है। अनस ने कहा कि वह पहले से ज्यादा तैयार हैं, ‘‘नेशनल स्पोटर्स अकादमी, जहां मैं तैयारी करता हूं, मेरे प्रशिक्षकों, मेरे माता-पिता और हर उस इंसान का जो मुझमें विश्वास करता है, का शुक्रगुजार हूं। लेकिन इससे भी ज्यादा यह मेरे लिए 2022 में होने वाले राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों की तैयारी का मंच है।

Check Also

अमजद अंसारी

अमजद के आठ विकेट के आगे कल्याणपुर स्ट्राइकर्स का निकला दम

लखनऊ। मैन ऑफ द मैच मो. अमजद अंसारी (आठ विकेट) की घातक गेंदबाजी से ब्रेवर्स …

999 club

27वीं इंदिरा प्रियदर्शिनी क्रिकेट प्रतियोगिताः संदीप ने झटके पांच विकेट तो ट्रिपल नाइन को मिली जीत

लखनऊ। मैन ऑफ द मैच संदीप छाबड़ा (पांच विकेट) की धारदार गेंदबाजी से ट्रिपल नाइन …

kabaddi

18 जनवरी को जिला सीनियर पुरूष व महिला कबड्डी टीम के चयन के लिए होंगे ट्रायल

लखनऊ। क्षेत्रीय खेल कार्यालय व जिला कबड्डी संघ के तत्वावधान में जिला सीनियर पुरूष व …

tennis

अंशुमान सिंह, ओम यादव, सिद्धार्थ यादव और सताक्षी तिवारी उलटफेर भरी जीत के साथ सेमीफाइनल में

लखनऊ। यूपी के अंशुमान सिंह, ओम यादव, सिद्धार्थ यादव और सताक्षी तिवारी ने आल इंडिया …

IMG20190115153223

वारियर्स फुटबॉल कप : अवध क्लब ने टाईब्रेकर में दर्ज की जीत

लखनऊ: जिला फुटबॉल संघ और अलीगंज वॉरियर्स क्लब की ओर से चौक स्टेडियम पर मंगलवार से …

kohli

वाह! विराट कोहली सबसे ज्यादा अंतरराष्ट्रीय शतक लगाने वाले  तीसरे बल्लेबाज

एडिलेड। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड में खेले गए …