July 29, 2021

वाराणसी के ललित उपाध्याय टोक्यो ओलंपिक में कमाल दिखाने को तैयार    

फाइल फोटो सोशल मीडिया

फाइल फोटो सोशल मीडिया

Share This News

लखनऊ। कौन कहता है आसमाँ में सुराख नहीं हो सकता, एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारों ये पंक्तियां यूपी के युवा दिग्गज खिलाड़ी ललित उपाध्याय पर सटीक साबित होती हैं। दरअसल बनारस के एक छोटे से गांव भगवानपुर से निकले ललित उपाध्याय का चयन टोक्यो ओलंपिक के लिए 16 सदस्यीय भारतीय पुरुष हॉकी टीम में किया गया है।

परमानंद से सीखी हाकी की एबीसाडी, अब ओलंपिक में  बिखेरेंगे जलवा

फाइल फोटो सोशल मीडिया
फाइल फोटो सोशल मीडिया

ललित के चयन से बनारस सहित पूरे यूपी के हाकी  प्लेयर्स में खुशी की लहर है। वहीं लखनऊ के हाकी प्लेयर्स में भी इनके चयन पर खुशियां मनायी जा रहीं है। दरअसल ललित साई के खिलाड़ी होने के नाते वह लखनऊ साई की ओर से सीनियर ऑल इण्डिया केडी सिंह बाबू प्रतियोगिता में भी हिस्सा ले चुके हैं।

हॉकी इंडिया ने टोक्यो ओलंपिक के लिए 16 सदस्यीय पुरुष टीम का एलान कर दिया। टीम में अनुभवी और नये प्लेयर्स का मेल है। बनारस के ललित उपाध्याय को ओलंपिक जाने वाली टीम में पहली बार जगह दी गई है। गौरतलब है कि टीम में 10 ऐसे खिलाड़ी शामिल हैं जो पहली बार  ओलंपिक  में खेलेंगे, वहीं छह अनुभवी खिलाड़ी भी हैं।

पहली बार खेलेंगे ओलंपिक में, बोले-सफलता का नहीं होता कोई शार्ट कट

फाइल फोटो सोशल मीडिया
फाइल फोटो सोशल मीडिया

ललित उपाध्याय ओलंपिक में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने को तैयार है क्योंकि उन्हें पता है कि ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करने के क्या मायने होते हैं।  भारतीय टीम पूल ए में है और इस पूल में वर्तमान चैंपियन अर्जेंटीना के साथ  ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, स्पेन और मेजबान जापान भी  है।

शिवपुर क्षेत्र के छोटे से गांव भगवानपुर से निकले ललित ने यूपी कॉलेज में परमानंद मिश्रा से हॉकी की एबीसीडी सीखी और अब तक 200 से अधिक अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हैं। भारतीय हॉकी टीम में काशी के ललित उपाध्याय सेंटर फॉरवर्ड खिलाड़ी हैं।

फाइल फोटो सोशल मीडिया
फाइल फोटो सोशल मीडिया

विश्व चैंपियनशिप, एशियन चैंपियनशिप सहित इसी वर्ष चार से पांच अंतरराष्ट्रीय मैचों में हिस्सा ले चुके ललित उपाध्याय ने बताया कि दुनिया भर के सभी टूर्नामेंट खेल चुका था। बस ओलंपिक बचा हुआ था। पहली बार चयन होने पर काफी खुश हूं।

ललित अभी बंगलौर में अभ्यास कर रहे है। उनके गांव भगवानपुर में उनकी मां रीता और पिता सतीश उपाध्याय ने बताया उनके दो बेटों में ललित छोटा है। जबकि बड़ा बेटा अमित प्रयागराज में नौकरी करता है। छोटे बेटे के पहली बार ओलंपिक के लिए चयन होने पर खुशी जाहिर की। स्वर्गीय ओलंपियन मोहम्मद शाहिद, विवेक सिंह के अलावा राहुल सिंह ने देश दुनिया में बनारस का नाम रोशन किया।

ये भी पढ़े : कोरोना काल में घर में स्किल तलाशने के लिए यूट्यूब से टिप्स ले रहे हॉकी खिलाड़ी

ये भी पढ़े : भारतीय ओलंपिक दल को आधिकारिक विदाई देंगे पीएम मोदी

उसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए दो हॉकी विश्व कप में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके ललित उपाध्याय अब टोक्यो ओलंपिक में अपना जलवा बिखेरेंगे। ललित ने हाल ही में कहा था कि जिस तरह से वाराणसी और उत्तर प्रदेश में हॉकी का विकास हो रहा है, निश्चय ही अगले कुछ दिनों में यहां से और अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी निकलेंगे ।  उनका कहना है कि सफलता का कोई शार्ट कट नहीं होता है ।


Share This News