July 29, 2021

एशियाई मुक्केबाजी : फाइनल में पहुंची मैरी कोम व साक्षी, भारत का धमाल

Share This News

दुबई में हो रही 2021 एएसबीसी एशियाई महिला एवं पुरुष मुक्केबाजी चैंपियनशिप के फाइनल में छह बार की विश्व चैंपियन भारत की एमसी मैरी कोम और साक्षी पहुंची जबकि मोनिका, जैस्मीन औऱ सिमरनजीत कौर बाथ को सेमीफाइनल में हार मिली.

टूर्नामेंट में भारत ने सर्वोत्तम प्रदर्शन करते हुए 13 कांस्य और दो रजत पक्के किए. ओलंपिक के लिए क्वालीफाई टाप सीड मैरी कोम ने 51 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में मंगोलिया की लुटसैखान अल्टानसेतसेग को 4-1 से हराया. लंदन ओलंपिक में कांस्य पदक जीत चुकीं मैरी कोम अपने लिए रजत पदक पक्का कर लिया है.

फाइनल में मैरी कोम का मैच कजाकिस्तान की नज्म जैबे से होगा. जैबे ने दूसरे सेमीफाइनल में श्रीलंका की नदीका पुष्पकुमारा को अपने मुक्कों से पहले ही राउंड में धराशायी हो गयी.  मैरी कोम का एशियाई चैंपियनशिप में ये सातवां पदक है.

भारत ने झटके 15 पदक, विकास व वरिंदर ने सेमीफाइनल में बनाई जगह

एशियाई मुक्केबाजी : अमित पंघल सेमीफाइनल में, मैरी कोम पेश करेंगी चुनौती 

2008 में गुवाहाटी में रजत पदक अपने नाम करने का अलावा मैरी कोम ने 2003, 2005, 2010, 2012 और 2017 में इस टूर्नामेंट में गोल्ड मैडल जीता है. 54 किग्रा के सेमीफाइनल में साक्षी का मैच कजाकिस्तान की टाप सीड दिना झोलामान से हुआ.

दो बार युवा विश्व चैंपियनशिप में पदक जीत चुकीं साक्षी ने अपने मुक्कों का जलवा दिखाते हुए झोलामान को चौंकाया और 3-2 से हारकर अपने लिए रजत पदक सुरक्षित किया. इस तरह फाइनल में पहुंचने वाली वो मैरी कोम के बाद दूसरी महिला मुक्केबाज हुई.

फाइनल में साक्षी का आमना-सामना उजबेकिस्तान की सिरोता शोहदारोवा से होगा. सिरोता ने दूसरे सेमीफाइनल में मंगोलिया की इरदेनेदलाई मिचिदमा को हराया.

57 किग्रा के सेमीफाइनल में भारत की जैस्मीन का मैच कजाकिस्तान की ब्लादिस्लावा कुकता से हुआ. जैस्मीन इस मैच में नहीं टिक सकीं और 0-5 से हारते हुए कांस्य से संतोष करना पड़ा.

लाइटवेट कटेगरी के सेमीफाइनल में टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीएफाई कर चुकी भारत की सिमरनजीत कौर बाथ का मैच कजाकिस्तान की रिम्मा वोलोसेन्को से हुआ. बैंकाक में रजत पदक जीत चुकीं सिमरनजीत इस बार फाइनल तक का सफर नहीं तय कर सकीं और ये मैच 0-5 से हार गयी.

फाइनल में वोलोसेन्को का मैच इंडोनेशिया की हुसवातुन हासाना से होगा, जिन्होने टाप सीड ताजिकिस्तान की शोइरा जुल्केनारोवा को चौंकाया. इससे पहले, 48 किग्रा वर्ग में भारत की मोनिका को सेमीफाइनल में हार मिली.

मोनिका को दूसरी सीड कजाकिस्तान की अलुआ बाल्कीबेकोवा ने 5-0 से हराया. मोनिका को कांस्य से संतोष करना पड़ा. फाइनल में बाल्कीबेकोवा का आमना-सामना उजबेकिस्तान की गुलासाल सुल्तोनालिएवा से होगा. गुलासाल ने पहले सेमीफाइनल में टाप सीड फिलपींस की जोसी गाबुको को 4-2 से हराया.

अमित पंघल सहित ये चार खेलेंगे सेमीफाइनल

गत विजेता अमित पंघल (52 किग्रा), शिव थापा (64 किग्रा), विकास कृष्ण (69 किग्रा), वरिंदर सिंह (60 किग्रा) और संजीत (91 किग्रा) के रूप में पांच पुरुष मुक्केबाज शुक्रवार को अंतिम-4 चरण में प्रतिस्पर्धा करते दिखाई देंगे.

एशियाई चैंपियनशिप में लगातार पांचवां पदक अपने नाम करने वाले शिव थापा ताजिकिस्तान के शीर्ष वरीयता प्राप्त बखोदुर उसमोनोव से आमना-सामना होगा. पंघल का मैच कजाख मुक्केबाज  साकेन बिबोसिनोव से होगा.

बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (बीएफआई) और यूएई बॉक्सिंग फेडरेशन द्वारा संयुक्त रूप से हो रहे इस आयोजन में एक रजत समेत कुल 15 पदक सुरक्षित करने के साथ भारतीय दल ने अब तक का सर्वोत्तम प्रदर्शन किया है.


Share This News