July 29, 2021

नफ्ताली बेनेट बने इजरायल के नए पीएम, ईरान-फलस्तीन के मुद्दे पर है कड़े तेवर 

फाइल फोटो सोशल मीडिया

फाइल फोटो सोशल मीडिया

Share This News

यरुशलम : बेंजामिन नेतन्याहू 12 साल तक  इजरायल के प्रधानमंत्री रहे लेकिन अब उनको सत्ता से बाहर करते हुए  49 वर्षीय नफ्ताली बेनेट इजरायल के नए प्रधानमंत्री बन गए. वो इससे पहले  रक्षा, शिक्षा मंत्री के के साथ 2006 से 2008 के बीच चीफ ऑफ स्टाफ का पद भी संभाल चुके है. वैसे  बेनेट पीएम बनने से पहले नेतन्याहू के सहयोगी रह चुके हैं.

फिर भी उन्होंने लिकुड पार्टी छोड़कर दक्षिणपंथी धार्मिक ज्यूइश होम ज्वाइन कर ली और  2013 में पहली बार सांसद बने.  इसके बाद 2019 तक उन्होंने गठबंधन सरकारों में कई मंत्रालय के दायित्व संभालने के बाद 2020 में जब संसद पहुंचे तो यामिना पार्टी के मुखिया थे.  इस  दक्षिणपंथी यामिना पार्टी के नफ्ताली बेनेट की इस सरकार में 27 मंत्री हैं.

फाइल फोटो सोशल मीडिया
फाइल फोटो सोशल मीडिया

मिलिट्री कमांडो यूनिट में सेवाएं दे चुके बेनेट इजरायल के हाइफा में पैदा हुआ थे. उन्होंने 2013 में अपनी अमेरिकी नागरिकता छोड़कर इजरायली राजनीति में एंट्री ली. वो एक स्टार्टअप टेक कंपनी Cyota चलाते थे जिसकी शुरुआत 1999 में हुई थी. उन्होंने 2005 में ये  कंपनी अमेरिकी सिक्योरिटी फर्म RSA को 14.5 करोड़ डॉलर में बेच  दी.

यरुशलम की हिब्रू यूनिवर्सिटी से कानून की पढ़ाई करने वाले  बेनेट कट्टर धार्मिक यामिना पार्टी के मुखिया हैं. उन्होंने  सन् 1967 की जंग में इजरायल द्वारा कब्जे के बाद वेस्ट बैंक इलाके के विलय के पक्षधर थे. उनके उनके सुझाव पर नेतन्याहू ने  विलय की प्रक्रिया शुरू की थी.

कोरोना वैक्सीन की दो डोज के अंतर के बारे में डॉ.फाउची ने बोली ये बात 

ईरान को लेकर अपने कड़े रुख के लिए चर्चित बेनेट की  गठबंधन सरकार में  वैचारिक मतभेद हैं लेकिन उन्होंने विवादों को पीछे छोड़ कॉमन इशूज पर फोकस करने के फैसले लिए  है और कोरोना वायरस संकट के चलते बदहाल अर्थव्यवस्था पर फोकस है.

बताते चले कि  गे राइट्स जैसे कई मामलो पर उदार  राय वाले बेनेट ईरान और फलस्तीन के मामले पर नेतन्याहू से भी ज्यादा मुखर हैं. उन्होंने फलस्तीनी अथॉरिटी दुनिया का सबसे बड़ा आतंकी बोला और ये भी कह चुके है कि  ईरान के साथ  अंतरराष्ट्रीय परमाणु समझौते की बहाली सबसे बड़ी भूल होगी और उन्होंने ये बोला कि ईरान के खिलाफ इजराइल कार्रवाई कर सकता है.


Share This News