July 24, 2021

नारदा केस ऐसे बढ़ा सकता है ममता बनर्जी की मुश्किल, जाने यहाँ  

फाइल फोटो सोशल मीडिया

फाइल फोटो सोशल मीडिया

Share This News

कोलकाता।  वेस्ट बंगाल  में  नारदा केस  के चलते तब बवाल खड़ा हो गया था. इस मामले में  अरेस्ट हुए पश्चिम बंगाल के 2 मंत्रियों सहित टीएमसी के  चार नेताओं की जमानत के आदेश पर कलकत्ता हाईकोर्ट की रोक के बाद सभी न्यायिक हिरासत में भेज दिए गए थे.

हालाकि एक न्यूज़ एजेंसी के अनुसार नारदा स्टिंग टेप केस को समक्ष राज्य से स्थानांतरित करने की मांग करने वाली सीबीआई द्वारा   कलकत्ता हाईकोर्ट में दायर याचिका में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और कानून मंत्री मोलोय घटक पक्षकार है.

फाइल फोटो सोशल मीडिया
फाइल फोटो सोशल मीडिया

जानकारी के अनुसार सीबीआई ने  इस कथित घोटाले के मामले में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनर्जी के खिलाफ  याचिका दायर की है. 123 पन्नों की इस याचिका में ममता के करीबी सहयोगी और टीएमसी सांसद कल्याण बनर्जी व राज्य के मंत्री मलय घटक भी आरोपी है. सीबीआई ने सीएम बनर्जी पर गलत व्यवहार का आरोप लगाते हुए मामले को हाईकोर्ट में ट्रांसफर करने की मांग की.

सीबीआई ने अरेस्ट किये ममता के दो मंत्रियों सहित 4 नेता, टीएमसी कार्यकर्ताओं ने की पत्थरबाजी

एक वेबसाइट की मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस बीच  नारदा केस में शुभेंदु अधिकारी मुकुल रॉय , काकोली घोष दस्तीदार और सौगत रॉय के खिलाफ  एक्शन नहीं लेने के मामले में सीबीआई द्वारा दायर चार्जशीट में कहा गया कि उन्हें इन चारों राजनेताओं के खिलाफ एक्शन  के लिए जरूरी  मंजूरी नहीं मिली थी.

बताते चले कि सीबीआई स्पेशल कोर्ट की तरफ से दी गई जमानत पर कोलकाता हाईकोर्ट ने सोमवार रात सुनवाई करते हुए  फिरहाद हाकिम और सुब्रत मुखर्जी समेत चार नेताओं के जमानत आदेश पर रोक लगा दी थी. शल कोर्ट की तरफ से दी गई जमानत पर कोलकाता हाईकोर्ट ने सोमवार की रात सुनवाई करते हुए रोक लगा दी थी.


Share This News