July 29, 2021

डॉ अजय कुमार साह को कृषि विज्ञान के क्षेत्र में राष्ट्रीय स्तर का पुरस्कार

डॉ. अजय कुमार साह

डॉ. अजय कुमार साह

Share This News

भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान, लखनऊ में प्रधान वैज्ञानिक डॉ. अजय कुमार साह को भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली, भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय महत्व का स्वामी सहजानंद सरस्वती उत्कृष्ट कृषि वैज्ञानिक पुरस्कार – 2020 से सम्मानित किया गया.

परिषद द्वारा ऑन लाइन आयोजित 93वें स्थापना दिवस तथा पुरस्कार समारोह के मुख्य अतिथि नरेंद्र सिंह तोमर (केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री) की उपस्थिति में यह सम्मान डॉ. साह को प्रदान किया गया. पुरस्कार राशि के रूप में पचास हजार रुपए, प्रमाण-पत्र तथा प्रशंसा पत्र भी प्रदान किया गया.

डॉ. अजय कुमार साह
डॉ. अजय कुमार साह

डॉ. साह द्वारा ”गन्ना में उद्यमिता मॉडल” तथा इसका प्यूपूल-पब्लिक-पार्टनर्शिप के अंतर्गत चीनी मिल क्षेत्रों में प्रग्रहण हेतु विकसित नियोजन तथा क्रियान्वयन तकनीक के लिए यह प्रतिष्ठित सम्मान/पुरस्कार दिया गया. इस मॉडल के प्रयोग तथा अपनाने से पिछले तीन वर्षों में गन्ना किसानों की आय में 1.5 से 2.0 गुना वृद्धि हुई तथा चीनी उद्योग को भी अधिक चीनी उत्पादन से अतिरिक्त मुनाफा प्राप्त हुआ.

गन्ना एवं अन्य कृषि आधारित उद्यम को वैज्ञानिक दृष्टि से संसोधित किया गया एवं उसे किसानों के खेतों में उतारने के लिए रणनीति बनाकर सघन कार्य किया गया. किसानों को उद्यमी के रूप में विकसित किया गया जिससे वह गन्ना बीज एवं अन्य कृषि आधारित व्यापार करने में सक्षम हुए. इस प्रकार इस मॉडल के प्रयोग से परियोजना क्षेत्र के किसानों को 200 करोड़ रुपए वार्षिक अतिरिक्त मुनाफा प्राप्त हुआ.

ये भी पढ़े : ग्रीन हाउस गैस व अल्ट्रा वायलेट विकिरण के अनुकूल पौधों का करना होगा विकास

पुरस्कार समारोह में केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव (केंद्रीय मत्स्य, पशु पालन ) एवं डेरी मंत्री  पुरुषोत्तम रूपाला, केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री सुश्री शोभा करंदलाजे, कैलाश चौधरी, महानिदेशक डॉ. त्रिलोचन महापात्र, उपमहानिदेशक, भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालयों के सचिव, निदेशक तथा अन्य गण-मान्य अतिथियों के साथ देश हर के लगभग 750 वैज्ञानिक एवं किसान उपस्थित थे.

पुरस्कार समारोह में भारतीय गन्ना अनुसंधान संस्थान द्वारा प्रकाशित एवं डॉ अजय कुमार साह द्वारा संपादित राजभाषा पत्रिका “इक्षु” को गणेश शंकर विद्यार्थी का प्रथम पुरस्कार तथा राजभाषा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए बड़े संस्थानों की श्रेणी में राजर्षि टंडन पुरस्कार का द्वितीय पुरस्कार भी संस्थान को दिया गया.


Share This News