Breaking News
Home / गैलरी / हर जगह कड़कनाथ’ की बढ़ी मांग, टीम इंडिया के साथ क्या अनुष्का भी होंगी दीवानी
kadaknaath 3

हर जगह कड़कनाथ’ की बढ़ी मांग, टीम इंडिया के साथ क्या अनुष्का भी होंगी दीवानी

kadaknaath 3झाबुआ : चिकन की एक ऐसी वैरायटी है जिसका गोश्त खाने से आपको फायदा ही फायदा होगा. औषधीय गुण, सबसे कम फैट, चटखदार काले रंग और हमेशा याद रहने वाले लजीज स्वाद के चलते इस प्रजाति के मुर्गा-मुर्गियों की डिमांड काफी बढ़ गई है. हालांकि  कड़कनाथ मुर्गे तब से सुर्खियों में है जब से बीसीसीआई ने भारतीय क्रिकेटरों को ग्रील्ड चिकन की जगह कड़कनाथ खाने का फरमान सुनाया है.  मध्यप्रदेश के आदिवासी क्षेत्र झाबुआ और धार जिले में काफी लोकप्रिय इस मुर्गे की मांग देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी है और सर्दियों में इसकी डिमांड बढ़ जाती है.

स्थानीय भाषा में कड़कनाथ मुर्गे को कालीमासी भी कहते हैं क्योंकि इसका मांस, चोंच, जुबान, टांगे, चमड़ी आदि काले रंग का होता है. कड़कनाथ मुर्गे की प्रजाति के तीन रूप होते हैं. इसमें पहला जेड ब्लैक जिसके पंख पूरी तरह काले होते हैं दूसरा पेंसिल्ड मुर्गे का आकार पेंसिल की तरह होता है जिसकेपंख पर पेंसिड शेड नजर आते हैं. तीसरा गोल्डन मुर्गे के पंख पर गोल्ड छींटे नजर आते हैं.

kadaknaath 4भारत-पाकिस्तान की सीमा से लगे श्रीगंगानगर, दक्षिणी छोर कर्नाटक, हैदराबाद, केरल से लेकर गोरखपुर तक इस प्रजाति के मुर्गे की मांग है. वही कई एनजीओ झाबुआ से मुर्गे और चूजे लेकर बाहर जाते हैं जबकि अधिक डिमांड के चलते इस सीजन में कृषि विज्ञान केंद्र स्थित हैचरी में हर महीने तीन से पांच हजार चूजे निकलने के बाद भी मांग पूरी नहीं हो पा रही है. मुर्गों की डिमांड पूरी करने के लिए मशीनों का सहारा लिया जा रहा है. वही वेटनरी कॉलेज, महू और कृषि विज्ञान केंद्र, झाबुआ स्थित हैचरी में अंडों को मशीनों की मदद से गर्म किया जाता है और 18 दिनों तक मशीनों में रखकर चूजे निकाले जाते है.

kadaknaathपूरी तरह से प्रोटीनयुक्त कड़कनाथ मुर्गे में वसा भी नाममात्र की होती है.दिल और डायबिटीज में कड़कनाथ बेहतरीन दवा मानी जाती है. इसमें विटामिन बी1स बी2, बी6 और बी12 भरपूर मात्रा में मिलने के साथ इसे सेक्स वर्धक भी माना जाता है और इसके मांस के सेवन से आंखों की रोशनी भी बढ़ती है. इस प्रजाति के मुर्गी के अंडे काफी महंगे होते हैं और एक अंडा करीब 50 रुपये में बिकता है जबिक एक कड़कनाथ मुर्गे की कीमत 900 से 1200 प्रतिकिलो रुपये और मुर्गी की कीमत 3000 से लेकर 4000 के बीच होती है .

Check Also

Anandeshwar Pandey cut

उत्तर प्रदेश ओलंपिक एसोसिएशन की साधारण सभा की बैठक 28 अप्रैल को

लखनऊ। उत्तर प्रदेश ओलंपिक एसोसिएशन की साधारण सभा की बैठक आगामी 28 अप्रैल को दोपहर …

life care club

प्रशांत ने झटके सात विकेट, लाइफ केयर बना चैंपियन

लखनऊ। मैन ऑफ द मैच प्रशांत सिंह (सात विकेट) की धारदार गेंदबाजी के बाद दमदार …

Kritagya kumar Singh ( lda STADIUM) cut

कृतज्ञ, अभिषेक और प्रियांशु के कमाल से आरईपीएल क्रूसेडर्स फाइनल में

लखनऊ। मैन ऑफ द मैच कृतज्ञ सिंह  (चार विकेट) की गेंदबाजी के बाद अभिषेक डफौेती …

Nikhat Zareen packs a power punch to outclass two-time world champion Nazym Kyzaibay of Kazakhstan during the quarter final match at the Asian Championships on Tuesday

एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप : निखत ने दो बार की विश्व चैम्पियन को हराकर पदक किया पक्का

नई दिल्ली । पूर्व जूनियर विश्व चैम्पियन निखत जरीन (51 किग्रा) ने 2019 सीजन में …

YASH SAHANI ( MULTI)

सेंट्रल क्लब की जीत में यश साहनी का पंजा

लखनऊ। मैन ऑफ द मैच यश साहनी (28 रन पर पांच विकेट) की शानदार गेंदबाजी से …

IMG-20190423-WA0026

अलमास का शतक बेकार, अवनीश की बल्लेबाजी ने दिखाया कमाल

लखनऊ। मैन ऑफ द मैच अवनीश सिंह (नाबाद 95 रन, 95 गेंद, 13 चौके, दो …