July 25, 2021

एनटीपीसी वाराणसी में अपशिष्ट से करेगा ऊर्जा निर्माण, ऑनलाईन निविदा आमंत्रित 

फाइल फोटो सोशल मीडिया

फाइल फोटो सोशल मीडिया

Share This News

एनटीपीसी लिमिटेड की पूर्ण स्वामित्व की अनुषंगी, एनटीपीसी विद्युत व्यापार निगम लिमिटेड ने वाराणसी के रमना में अपशिष्ट से ऊर्जा निर्माण करने वाली सुविधा के ईपीसी पैकेज के लिए ‘दो-चरण’में निविदा के आधार पर ऑनलाईन निविदा आमंत्रित की. निविदा की शुरूआत 22 जून 2021 को हुई और यह 27 जुलाई 2021 तक जारी रहेगी.

उम्मीद है कि वाराणसी में अपशिष्ट से उर्जा का निर्माण करने वाली इस सुविधा का संचालन 30 सितम्बर 2022 तक शुरू हो जाएगा. परियोजना के तहत इस सुविधा में 600 टन प्रतिदिन ताज़ा नगरपालिका ठोस अपशिष्ट के पृथक्करण की क्षमता से युक्त संयंत्र की स्थापना की जाएगी. विभिन्न उप-संयोजनों के संयोजन, परीक्षण, रखरखाव एवं प्रतिस्पथापन हेतु पूरी योजना मोड्यूलर तरीके से बनाई जाएगी.

फाइल फोटो सोशल मीडिया
फाइल फोटो सोशल मीडिया

पूरा संयंत्र गंधरहित होगा तथा उत्सर्जन के वैद्य नियमों का अनुपालन करेगा. सुनिश्चित किया जाएगा कि संयंत्र के चारों ओर का वातावरण पर्यावरण के अनुकूल हो, साथ ही यहां शोर का स्तर भी निर्धारित सीमा के भीतर रहे. इसके अलावा एक प्रभावी इफ्लुएन्ट एवं लीचेट सिस्टम भी लागू किया जाएगा ताकि संयंत्र से हानिकारक पदार्थ उत्पन्न न हों.

ये भी पढ़े : लंबी अवधि के निवेश के लिए सीख : यूटीआई एएमसी के फंड मैनेजर की सीख

संयंत्र के संचालन एवं रखरखाव में स्वायत्त प्रक्रियाओं के माध्यम से मनुष्य के संपर्क की संभावना को सीमित किया जाएगा. एनटीपीसी ने दादरी चरण-1 में एक डेमो/पायलट टोररेफ़ेक्शन प्लांट भी इन्सटॉल किया है, जिसमें फीडस्टॉक के रूप में कृषि अवशेष/ नगरपालिका ठोस अपशिष्ट का उपयोग किया जाएगा.

इस संयंत्र में ‘टोररेफ़ेक्शन’ प्रक्रिया को लागू किया गया है, जहां नगरपालिका ठोस अपशिष्ट को ऑक्सीजन की अनुपस्थिति में गर्म किया जाता है. संयंत्र की शुरूआत मार्च 2020 में हुई, जो वर्तमान में चारकोल का उत्पादन करता है और इसका जीसीवी 4000-5000 किलोकैलोरी/ प्रति किलोग्राम की रेंज में है.


Share This News