July 25, 2021

यूपी में मौसमी बीमारियों से बचाव के लिये शुद्ध पेयजल आपूर्ति की योजना 

फाइल फोटो सोशल मीडिया

फाइल फोटो सोशल मीडिया

Share This News

लखनऊ: ग्रीष्म ऋतु को देखते हुए राज्य सरकार प्रदेश के सभी नगर निकायों को शुद्ध पेजयल आपूर्ति कर रही है. कोरोना की संभावित तीसरी लहर और बरसात के बाद होने वाली मौसमी बमारियों से जन-जन को बचाने के लिये भी पेयजल की स्वच्छता पर जोर दिया जा रहा है.

इसके मद्देनजर 651 नगर निकायों में अभियान चलाकर नए नलकूपों को स्थापित करने, उनकी मरम्मत करने और रीबोर कराने का काम तेज गति से किया जा रहा है. बीमारियों के फैलने में प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से पानी का ही हाथ होता है. ऐसे में जन-जन तक स्वच्छ पेजयल आपूर्ति करने के लिये प्रतिबद्ध योगी सरकार ने आवश्यक सभी तैयारियों को पूरा कर लेने को कहा है.

651 नगर निकायों में अभियान चलाकर प्रतिदिन की जा रही आवश्यक पेयजल आपूर्ति

फाइल फोटो सोशल मीडिया
फाइल फोटो सोशल मीडिया

इसके लिये समस्त नगर निगमों में कुल 11589 में से 629 नलकूपों की मरम्मत कर ठीक करा लिया गया है जबकि 428 में से 71 नलकूलों को रीबोर करके चालू कराया जा चुका है. प्रदेश में स्थापित 276412 इण्डिया मार्का-2 हैण्ड पम्पों में से 15760 नलकूपों से अधिक की मरम्मत कराई गई है। जबकि 16762 हैण्डपम्पों में से 3358 को रीबोर कराकर चालू करा दिया गया है.

नलकूलों को रीबोर करने और उनकी मरम्मत के काम ने पकड़ी तेजी

प्रदेश के समस्त स्थानीय निकायों में क्वालिटी टेस्टिंग और क्लोरिनेशन करते हुए शुद्ध पेयजल की आपूर्ति की जा रही है.  इन सभी प्रयासों के पीछे सरकार का मकसद हर व्यक्ति को शुद्ध पेयजल देने की है जिससे उसका स्वास्थ्य ठीक रहे.

ये भी पढ़े : यूपी सीएम योगी का एक माह में कू एप पर 10 लाख फॉलोअर्स का आंकड़ा पार

जलकल विभागों के अधिकारियों को एलर्ट रहने को कहा गया है. किसी भी क्षेत्र में पानी का संकट होने पर तत्काल उसके निस्तारण करने के भी आदेश दिये गये है. गर्मी में पानी की कमी किसी को भी न हो इसके लिये टैंकरों की पर्याप्त व्यवस्था भी सभी नगर निगमों में की जा चुकी है.


Share This News