July 24, 2021

टोक्यो ओलंपिक के लिए रोहन बोपन्ना और सुमित नागल की बनी जोड़ी

Share This News

इंटरनेशनल टेनिस फेडरेशन ने अखिल भारतीय टेनिस संघ को जानकारी दी है कि ओलंपिक में भारतीय टेनिस प्लेयर सुमित नागल पुरुष सिंगल में देश का प्रतिनिधित्व करेंगे. एआईटीए ने दिविज शरण का नामांकन वापस लेकर पुरुष डबल वर्ग के लिए रोहन बोपन्ना के साथ नागल की जोड़ी बनाई है.

सुमित नागल की 14 जून को रैंकिंग 144 थी जो ओलंपिक में सीधे एंट्री के लिए अंतिम स्थान था. प्रजनेश गुणेश्वरन रैंकिंग में 148वें स्थान पर हैं और उन्हें कट ऑफ में जगह बनाने को लेकर आधिकारिक सूचना का इंतजार करना पड़ेगा. आईटीएफ ने प्रविष्टियों की समय सीमा खत्म होएं से कुछ घंटे पहले एआईटीए को सूचित किया कि नागल ओलंपिक में पुरुष सिंगल में हिस्सा लेने के योग्य हैं.

नागल ने जर्मनी से बोला कि, मुझे पता था कि कट ऑफ नीचे आएगा. दूसरे ओलंपिक खेलों से इस वर्ष चीजें काफी अलग है. बहरहाल, मुझे खुशी हो रही है. मुझे देश का प्रतिनिधित्व करने का अवसर मिल रहा है. मैं इसके बारे में अधिक शिकायत नहीं कर सकता. इस 23 वर्षीय प्लेयर का इस वर्ष प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है.

ये भी पढ़े : ओलंपिक : युगांडा का एक एथलीट लापता, पुलिस तलाश में जुटी

ऑस्ट्रेलियाई ओपन समेत सात टूर्नामेंटों में वो पहले दौर में ही बाहर हुए. उन्होंने इस दौर छह चैलेजर टूर्नामेंटों में हिस्सा लिया जिसमें से केवल तीन बार क्वार्टर फाइनल में पहुंच सके. इस वर्ष को 137वीं रैंकिंग से शुरू करने वाले नागल की मौजूदा रैंकिंग 154 हुई. उन्होंने बोला कि, ईमानदारी से कहूं तो मैं कुछ चीजों से जूझ रहा हूं, मैं इसका नाम नहीं लेने चाहता हूं.

ओलंपिक में जाने से उम्मीद है कि मेरे करियर में चीजें बदल जाएंगी. ये अद्भुत अनुभव होने वाला है. मैं कोर्ट पर अपना 100 फीसदी दूंगा. इससे पहले गुरुवार को ये कट ऑफ रैंकिंग 130 थी और युकी भांबरी ने 127वीं रैंकिंग के साथ कट में एंट्री ली थी लेकिन हाल ही में अमेरिका में दाहिने घुटने के ऑपरेशन की वजह से वो खेल नहीं सकेंगे.

भांबरी ने एक समाचार एजेंसी से बोला कि, मैं नहीं खेलूंगा. कड़े प्रोटोकॉल और कोरोना के डर से कई प्लेयर्स ने ओलंपिक से नाम वापस लिया है. एआईटीए के महासचिव अनिल धूपर ने बोला है कि, आईटीएफ ने एकल के लिए नागल के एंट्री की पुष्टि की है. हमने उनसे बात की और उन्होंने इसे स्वीकार किया हैं.

हमने भारतीय ओलंपिक संघ से संपर्क किया है और उनके ‘एक्रिडिटेशन की व्यवस्था करने का अनुरोध किया है. धूपर के अनुसार, हमने दिविज शरण का नामांकन वापस लिया है और नयी टीम आईटीएफ को भेज दी है.

इसकी संभावना है कि बोपन्ना पुरुष डबल के लिए जगह बना ले क्योंकि नागल और सानिया मिर्जा मिश्रित युगल स्पर्धा में जगह बनाने की संभावना कम है क्योंकि इसमें केवल 16 टीमें हिस्सा लेंगी. बोपन्ना और नागल के पुरुष युगल में एंट्री को लेकर आईटीएफ ने अब तक पुष्टि नहीं की है.

महिला डबल के ड्रा में अभी तक सिर्फ सानिया मिर्जा और अंकिता रैना का ही भारतीय जोड़ी के रूप में एंट्री सुनिश्चित है. सानिया ने अंकिता के साथ एंट्री करने के लिए अपनी संरक्षित नौवीं रैंकिंग का प्रयोग किया. ओलंपिक टेनिस युगल में सभी शीर्ष-10 प्लेयर्स को सीधे एंट्री मिलती है. इन प्लेयर्स के लिए शीर्ष 300 रैंकिंग में शामिल देश के किसी भी प्लेयर के साथ जोड़ी बनाने की छूट होती है.


Share This News