July 25, 2021

ज्‍वेलर कम्‍युनिटी को देंगे सहारा, गोदरेज सिक्‍योरिटी सॉल्‍यूशंस व आईसीआईसीआई बैंक

Share This News

गोदरेज ग्रुप की प्रमुख कंपनी गोदरेज एंड बॉयस ने यह घोषणा की है कि भारत के अग्रणी सुरक्षा समाधान प्रदाता गोदरेज सिक्‍योरिटी सॉल्‍यूशंस (जीएसएस) ने आईसीआईसीआई बैंक के साथ भागीदारी में भारत की ज्‍वेलर कम्‍युनिटी के लिये वित्‍तीय सहायता का एक प्रोग्राम लॉन्‍च किया है।

जीएसएस भारत में पहला ब्राण्‍ड बन गया है, जो भारत की ज्‍वेलर्स कम्‍युनिटी की सहायता के लिये ऐसा प्रोग्राम लागू कर रहा है और उन्‍हें अपने स्‍टोर के लिये नये युग के सुरक्षा समाधानों में निवेश करने के लिये प्रोत्‍साहित कर रहा है। यह फाइनेंस प्रोग्राम रिटेल ज्‍वेलर्स के लिये गोदरेज सिक्‍योरिटी सलूशंस के द्वारा पेश की गई एक अनूठी ऋण सुविधा है।

रिटेल ज्‍वेलर्स को ऋण सुविधाएं प्रदान करने के लिए भारत में अपनी तरह का पहला ज्‍वेलर्स फाइनेंस प्रोग्राम

इस ऋण सुविधा से ज्‍वेलरी स्‍टोर्स के मालिक टॉर्च और टूल के लिये प्रतिरोधी अलमारियों में निवेश कर सकेंगे, जो आभूषण, नगदी और दस्‍तावेज जैसी उनकी बहुमूल्य संपत्तियों को सुरक्षित रखेंगी।

चूंकि टॉर्च और टूल के लिये प्रतिरोधी अलमारियां महंगी होती हैं, इसलिये भावी ज्‍वेलर्स जीएसएस के किसी भी चैनल पार्टनर से जुड़कर आसान ईएमआई पर यह अलमारियाँ खरीद सकते हैं और एक ही बार में हो सकने वाले भारी निवेश से बच सकते हैं। मौजूदा ज्‍वेलर्स भी गोदरेज सिक्‍योरिटी सलूशंस के स्‍थानीय चैनल पार्टनर्स या सेल्‍स टीम के माध्‍यम से यह सुविधा ले सकते हैं।

पार्टनर फील्ड कर्मियों को चिकित्सा एवं दुर्घटना बीमा कवर देगी लावा मोबाइल

इसके बाद चैनल पार्टनर्स या सेल्‍स टीम उन्‍हें सीधे आईसीआईसीआई की टीम से जोड़ देगी। इस ऋण सुविधा के लिये ब्‍याज की दर 16% प्रतिवर्ष है और प्रोसेसिंग शुल्‍क 1.5% है। ऋण राशि न्‍यूनतम 1 लाख रूपये से शुरू होती है और अधिकतम 10 लाख रूपये हो सकती है।

इस साझेदारी के विषय में गोदरेज सिक्‍योरिटी सलूशंस के वाइस प्रेसिडेंट पुष्‍कर गोखले ने कहा कि गोदरेज सिक्‍योरिटी सलूशंस ने हमेशा भारत के ज्‍वेलर्स के साथ सहयोग किया है, ताकि उन्‍हें सुरक्षा समाधान अपनाने और अपग्रेड करने में मदद मिल सके।

जेम्‍स ऐंड ज्‍वेलरी सेक्‍टर भारत के सबसे ज्‍यादा राजस्‍व अर्जित करने वाले सेक्‍टरों में से एक है और लूट और चोरी जैसे बाहरी खतरों के लिए सबसे असुरक्षित भी है। ज्‍वेलर्स के साथ निकटता से काम करने के कारण हम समझते हैं कि सुरक्षा समाधानों को अपग्रेड करने में पूँजी की जरूरत होगी और यह इस चुनौतीपूर्ण समय में कठिन होगा।


Share This News