July 28, 2021

अंतरिक्ष के सफ़र पर निकली सिरिषा बांडाला भारतीय मूल की तीसरी महिला   

फोटो सोशल मीडिया

फोटो सोशल मीडिया

Share This News

नई दिल्ली।  वर्जिन गैलेक्टिक की यूनिटी-22 उड़ान से इतिहास रच दिया क्योंकि इस उड़ान में भारतीय मूल की 34 वर्षीय सिरिषा बांडाला भी अंतरिक्ष के सफ़र पर निकली है. वो ये उपलब्धि पाने वाली भारतीय मूल की कल्पना चावला के बाद एक और  भारतवंशी है.ये करने वाली सिरिषा बांडाला चौथी भारतवंशी और तीसरी भारतीय मूल की महिला हैं.

वैसे भारत के अनुसार उनसे पहले स्क्वाड्रन लीडर राकेश शर्मा, कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स अंतरिक्ष में जा चुके है. जानकारी के अनुसार वर्जिन गैलेक्टिक की यूनिटी-22 राकेट ने रविवार की रात 8 बजे अंतरिक्ष की उड़ान भरी.

फोटो सोशल मीडिया
फोटो सोशल मीडिया

बांडाला के साथ वर्जिन गैलेक्टिक के अरबपति संस्थापक सर रिचर्ड ब्रानसन और पांच अन्य को लेकर न्यू मैक्सिको से रवाना हुई वर्जिन गैलेक्टिक स्पेसशिप में कुल 6 लोग हैं जिसमे दो पायलट और चार पैसेंजर है जबकि  क्रू में रिचर्ड ब्रैन्सन भी है.

सिरिषा बांडाला अंतरिक्ष में जाने वाली भारतीय मूल की तीसरी महिला है. उनसे पहले पहले कल्पना और सुनीता अंतरिक्ष का सफ़र कर चुकी है. आंध्र प्रदेश के गुंटुर जिले में पैदा हुई सिरिषा बांडाला अमेरिका के ह्यूस्टन, टेक्सास में पली बढ़ीं है.

ये भी पढ़े : चीन के शुरुआती कोरोना केस के आंकड़े अमेरिकी डेटा बेस से क्यों हुए डिलीट 

ये भी पढ़े : मोदी सरकार किसानों को ऐसे देगी एक लाख करोड़ रुपये का लाभ

एक मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उन्होंने हाल ही में बोला था कि मुझे  ऐसा लगता है कि मै पूरे भारत को अपने साथ स्पेस में ले जा रही हूँ. उस समय उन्होंने ये भी कहा था कि  कि वो 4 साल की उम्र में अपने माता-पिता के साथ अमेरिका गई थीं और जॉर्ज वाशिंगटन यूनिवर्सिटी से एमबीए किया था.


Share This News