Breaking News
Home / स्तंभ / Devotee : चौक की तंग गलियों से निकली जगन्नाथ ऱथ यात्रा, भक्त हुए भाव-विभोर
pix 1

Devotee : चौक की तंग गलियों से निकली जगन्नाथ ऱथ यात्रा, भक्त हुए भाव-विभोर

pix 1लखनऊ: सैकड़ो वर्षो की भाँति इस बार भी चौक स्थित बड़ी काली जी मन्दिर से निकलने वाली भगवान श्री जगन्नाथ जी की ऐतिहासिक रथयात्रा आज दोपहर 1:00 बजे बड़ी धूमधाम से “श्री श्री जगन्नाथ ऱथ यात्रा एवं नवरात्रि मेला प्रबन्धन समिति (रजि.)” के तत्वाधान में निकाली गयी. पुराने लखनऊ की तंग गलियों व मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रो से निकलने वाली यह रथ यात्रा न सिर्फ हिन्दू धर्म ध्वजा को मजबूती से शिखर पर स्थापित किये हुए है बल्कि सामाजिक समरसता व अवध की गंगा जमुनी तहजीब की जीती जागती तस्वीर भी है.
 प्रति वर्ष आषाढ शुक्ल पक्ष की द्वितीया को निकलती है रथ यात्रा 
समिति अध्यक्ष अनुराग दीक्षित (एड.) ने बताया कि प्रति वर्ष आषाढ शुक्ल पक्ष की द्वितीया को भगवान श्री जगन्नाथ जी की रथ यात्रा उड़ीसा के पुरी शहर से निकलती है जिसमें सम्पूर्ण भारतवर्ष से श्रद्धालू पहुँचकर अमीर गरीब व छुआ छूत से मुक्त होकर एकरसता व समरसता व श्रद्धा के साथ भगवान श्री जगन्नाथ जी, भगवान श्री बलभद्र जी माता सुभद्रा जी के अलग अलग रथो को खीचकर पुण्य प्रसाद ग्रहण करते है. यात्रा का शुभारम्भ डा.दिनेश शर्मा (उप मुख्यमंत्री), आशुतोष टंडन (मंत्री यूपी  सरकार), श्रीमती संयुक्ता भाटिया (महापौर लखनऊ), महंत बाबा धर्मेंद्र दास व संयोजक अनुराग मिश्रा अन्नू, समिति के अध्यक्ष अनुराग दीक्षित, महामंत्री संजीव झींगरन, कोषाध्यक्ष आनन्द रस्तोगी, राधारमण अग्रवाल, मंत्री मनीष कपूर, सुरेश रस्तोगी, उपाध्यक्ष गोपाल साहू, मीडिया प्रभारी प्रवीन गर्ग व अन्य कमेटी के सदस्य तथा भक्तगण बड़ी काली जी मन्दिर पहुँचकर भगवान की आरती तथा प्रसाद वितरित करने के बाद भगवान को मन्दिर से लाकर समिति द्वारा बनवाऐ गये रथो में विराजमान कराने के बाद रस्सा खींचकर करते हैं.
देवी देवताओ और महापुरूषों के प्रतिरूप बने बालकलाकारो की अद्भुत झाकियां भी निकली
pixचौक से निकलने वाली यह रथ यात्रा अपने में कई अनूठी बाते व हिन्दू धर्म के “वसुधैव कुटुम्बकम्” के सन्देश को प्रसारित करती है. इसमें भगवान खाटू श्याम जी का अलौकिक रथ भी राधा रमण अग्रवाल के सौजन्य से निकाला गया, यात्रा मार्ग मे जगह जगह भक्तगणों ने पूजा अर्चना करके व यात्रा में शामिल भक्तो को प्रसाद आदि खिलाया. भक्तगण भी तीनों रथो को रस्से से पूरे उत्साह व उमंग के साथ खींचते हुए जयकारा लगाते हुए चलते है जिसमें समिति के युवा मंडल के कपिल साहू, दीपक माहेश्वरी, रवि रस्तोगी, राहुल सारस्वत, गोल्डी साहू, शिवा साहू, वैभव स्वर्णकार आदि पूरे रास्ते खीचते रहते है. इस भव्य रथयात्रा मे भगवान के तीन रथो के अतिरिक्त हाथी, घोड़े, ऊंट डीजे, ब्रास बैण्ड तथा अलग अलग देवी देवताओ और महापुरूषों की प्रतिरूप बने बालकलाकारो की अद्भुत झाकियां भी निकाली गयी.
मुस्लिम भाईयों ने यात्रा में शामिल भक्तो की सेवा की
इस रथयात्रा के अनुठेपन का बेजोड़ हिस्सा अकबरी गेट ढाल पर यात्रा के पहुँचने पर सबको देखने को मिला जहाँ पिछले कई वर्षो की तरह उमर भाई रोटी वाले, इमरान भाई, बिल्डर इक्तिदार अंसारी व अन्य कई मुस्लिम भाईयों ने यात्रा में शामिल थके भक्तो को शरबत, लस्सी, पानी व कोल्ड ड्रिंक पिलाकर ऊर्जा का संचार कर दिया जिसके बाद चौक सर्राफा की तंग गलियो से यात्रा निकली. इसके बाद रथ यात्रा चौक चौराहे पर स्थित गोल दरवाजे पर पहुँची, जहाँ समिति के मुख्य संरक्षक लालजी टन्डन पूर्व मंत्री यूपी  सरकार, मंत्री आशुतोष टंडन, विधायक सुरेश श्रीवास्तव, विधायक नीरज बोरा, संयोजक डा.स्वामीराम अवस्थी, प्रमोद वर्मा (मिनी ज्वैलर्स), ड़ा.राजकुमार वर्मा, विनोद माहेश्वरी, उमेश पाटिल, सुभाष तिवारी, पवन अग्रवाल, श्याम अग्रवाल, कस्तूरबा मार्केट के आशीष मिश्रा, गोल्डी सहगल, ड़ा.उमंग खन्ना, विजय रस्तोगी, धनीराम रस्तोगी, संकेत मिश्रा, विष्णु त्रिपाठी लंकेश, आदि अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने स्थानीय दुकानदारो के साथ मिलकर रथ यात्रा का भव्य स्वागत कढी चावल, चना, कोल्ड ड्रिक आदि पिलाकर भव्य स्वागत किया.
जगह-जगह हुआ भव्य स्वागत
इसके बाद रथयात्रा कोनेश्वर मंदिर होते हुए लाजपत नगर स्थित शाहगंगा धर्मशाला पहुँची जहां महिलाओ ने जिसमें मुख्य रूप से लक्षिका ग्रुप की ऊषा अग्रवाल, बबिता अग्रवाल, रीति सिंह व जगन्नाथ महिला मंडल की सुषमा झिंगरन, शीला रस्तोगी, सुनीता वर्मा आदि ने कढ़ी चावल खिलाकर स्वागत किया. अनूठेपन की एक अन्य मिसाल लाजपत नगर कालोनी में स्थित गुरूद्वारे मे पहुँचकर देखने को मिली जहां सरदार मंजीत सिंह (राष्ट्रीय एथिलीट), सरदार गुरूशरण सिंह व लाजपतनगर रेजिडेन्ट वेलफेयर एसोशिएशन के आनन्द सिंह व अन्य क्षेत्रीय लोगों ने शर्बत लस्सी पानी कोल्ड ड्रिंक पिलाकर यात्रा का स्वागत पिछले वर्षो की तरह किया.
भगवान ने किया नौकाविहार 
सबसे बोजोड़ व अनूठा दृश्य इसके बाद कुड़ियाघाट पहुँचकर देखने को मिला जहां भगवान श्री जगन्नाथ, भगवान श्री बलभद्र जी, माता सुभद्रा अपने अपने रथों से उतरकर आदिगंगा गोमती मां के तट पर आकर नौका विहार करते है. संध्या समय जब सूर्य देव अस्ताचल हो रहे थे, उस समय भक्तगणों के साथ भगवान ने गोमती नदी में नौका विहार किया जो दृश्य बड़ा ही विहंगम व अविस्मर्णीय था. हजारो भक्त तट पर खडे होकर भगवान के नौकाविहार के बाद आने का इन्तजार कर रहे थे, नौका विहार के बाद भगवान पुनः अपने रथों पर विराजमान होकर रथ यात्रा को घण्टाघर के सामने से होते हुए वापस कालीजी मंदिर होते हुए प्रस्थान किया. अन्य किसी भी रथ यात्रा में भगवान को नौकाविहार नहीं कराया जाता है. समिति का उद्देश्य इस नौका विहार के पीछे यह संदेश जनमानस को देना है कि हिन्दू धर्म मे नदियों को मां का दर्जा दिया गया है, नदियां जीवनदायनी है इनकी पवित्रता का दायित्व रखना हमारा प्रथंम कर्तव्य होना चाहिए.  इस प्रकार से नौकाविहार के बाद पुनः बड़ी काली जी मन्दिर पहुँचकर भगवान अपने नियत स्थान पर विराजमान हो गये तथा सैकड़ो भक्तों ने भगवान की महाआरती करने के बाद इस भव्य रथ यात्रा का समापन हुआ.

Check Also

DSC_4466

प्रति व्यक्ति द्वारा कम से कम 5 पौधे लगाने से भविष्य में पर्यावरण होगा सुरक्षित : डॉ. माओ

लखनऊ: राष्ट्रीय वनस्पति अनुसंधान संस्थान, लखनऊ एवं इंटरनेशनल सोसाइटी ऑफ़ एनवायर्नमेंटल बॉटनिस्ट्स (आईएसईबी), लखनऊ द्वारा …

suresh hindustani

बंगाल में राष्ट्रपति शासन के हालात, उलटा चोर कोतवाल को डाटे

सुरेश हिन्दुस्थानी,  पश्चिम बंगाल में हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी …

S44

हाथ न हाथी कोई नहीं बन पाया सपा का सारथी : बृजनन्दन राजू 

मतदाताओं का मिजाज नहीं भांप पाये अखिलेश  लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीयअध्यक्ष अखिलेश …

murli

रेड्डी के मंत्रिमंडल में पांच उपमुख्यमंत्री, कितना जायज !

मुरली मनोहर श्रीवास्तव, आंध्र प्रदेश में नवनिर्वाचित वाईएसआर कांग्रेस पार्टी की सरकार ने नया राजनीतिक …

export

राज्य निर्यात पुरस्कार वर्ष 2019-20 हेतु आवेदन पत्र आमंत्रित

लखनऊ: यूपी निर्यात प्रोत्साहन ब्यूरो द्वारा प्रदेश की समस्त निर्यातक इकाइयों से राज्य निर्यात पुरस्कार …

WhatsApp Image 2019-06-04 at 4.55.00 PM (2).jpegok

उर्दू, अरबी-फारसी विश्वविद्यालय में स्टूडेंट्स बन सकेंगे एनसीसी कैडेट

लखनऊः ख़्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती उर्दू, अरबी-फारसी विश्वविद्यालय, लखनऊ में मंगलवार को 64 यूपी एनसीसी बटालियन …