July 24, 2021

टाटा एआईए ने अपने कर्मचारियों को दिया ‘रक्षा का टीका’

प्रतीकात्मक चित्र सोशल मीडिया

प्रतीकात्मक चित्र सोशल मीडिया

Share This News

टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस ने अपने कर्मचारियों को ‘रक्षा का टीका’ सुविधा दी है, टीकाकरण के लिए पात्र 99 प्रतिशत कर्मचारियों को पिछले दो महीनों में कोविड-19 के खिलाफ टीके की कम से कम पहली खुराक मिल चुकी है. अपने कर्मचारियों के टीकाकरण का महत्वपूर्ण पड़ाव पार करने वाली कुछ कंपनियों में अब टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस भी शामिल हुई है.

लगभग सभी कर्मचारियों का हुआ टीकाकरण

कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण को प्राथमिकता देने और ग्राहकों, सलाहकारों और कर्मचारियों जैसे हितधारकों को अलग प्लेटफॉर्म्स के ज़रिए टीकाकरण के प्रति जागरूक करने के लिए टाटा एआईए लाइफ ने ‘पहले टीका’ और ‘रक्षा का टीका’ अभियान शुरू किए हैं.

प्रतीकात्मक चित्र सोशल मीडिया
प्रतीकात्मक चित्र सोशल मीडिया

टीके की आपूर्ति में कमी की चुनौती को टाटा समूह की अन्य कंपनियों के सहयोग से दूर किया गया और भारत भर में आयोजित शिविरों में कर्मचारियों को पहली खुराक दी गई.  45 वर्ष से अधिक आयु के सभी कर्मचारियों को पहले ही एक खुराक दी जा चुकी है.  अपने कर्मचारियों के शारीरिक, भावनात्मक और वित्तीय कल्याण के लिए टाटा एआईए लाइफ ने कई उपाय किए.

बीमारी के पहले और बीमारी के बाद की देखभाल, आपातकालीन सेवाएं, वित्तीय सहायता, टीकाकरण, नियमों के बारे में जागरूकता, भावनात्मक और शारीरिक कल्याण, चिकित्सा सुविधा सहायता आदि सेवाएं शामिल की गयी हैं. टीकाकरण लागत की प्रतिपूर्ति से लेकर हर खुराक के लिए एक दिन की छुट्टी तक सभी सहायता सभी कर्मचारियों को प्रदान की गयी.

ये भी पढ़े : “बड़ा बिजनेस” 6 गिनीज वर्ल्‍ड रिकॉर्ड्स जीतने वाली पहली दक्षिण-पूर्व एशियाई कंपनी

टीकाकरण के अलावा, टाटा एआईए लाइफ ने अपने कर्मचारियों के लिए कोविड कवच पॉलिसी का भी विस्तार किया है, जिसमें कर्मचारी और उनके पति या पत्नी को अस्पताल में भर्ती होने के खर्च के लिए हर एक को 1 लाख रुपयों की बीमा सुरक्षा दी जाती है.

ग्रुप टर्म लाइफ इंश्योरेंस के तहत ग्रुप मेडिक्लेम कवर को कर्मचारियों, उनके पति या पत्नी और 2 बच्चों के लिए बढ़ाकर 7 लाख रुपये किया गया है. दुर्भाग्यवश मृत्यु हो जाने पर कर्मचारी के वार्षिक वेतन के छह गुना रकम के बराबर बीमा प्रदान किया गया है. तत्काल चिकित्सा खर्च में सहायता के लिए 50,000 रुपयों का एडवांस पाने की सुविधा भी कर्मचारियों को दी गयी है.


Share This News