July 24, 2021

कोरोना की तीसरी लहर दे रही दस्तक, पूरी तरह रहना होगा सतर्क : पीएम मोदी

फाइल फोटो सोशल मीडिया

Share This News

नई दिल्ली :  यूरोप के कई देशों में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के केस के चलते भारत सरकार भी पूरी तरह सतर्क है. वही देश में कई राज्यों में कोरोना के केस में तेजी से उछाल आया है. इन हालत में पीएम नरेंद्र मोदी ने  शुक्रवार को छह राज्यों-तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश,  कर्नाटक, केरल, ओडिशा और महाराष्ट्र के के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की.

पीएम मोदी ने कुछ राज्यों में कोरोना के केस बढ़ने पर कहा कि देश में कोरोना की तीसरी लहर दस्तक दे रही है और ऐसे में पूरी तरह सतर्क रहना होगा. पीएम के अनुसार लंबे समय तक कोरोना के  प्रकोप से  नए वैरिएंट का खतरा हो जाता है और इसके खिलाफ बचाव करना होगा और हालत पर नियंत्रण नहीं हुआ तो  बेकाबू हो जाएंगे. हमें अभी से माइक्रो कंटेमेंट जोन ध्यान देना होगा.

फाइल फोटो सोशल मीडिया

प्रधानमंत्री के अनुसार राज्य सरकारों ने इस संकट के समय एक-दूसरे से सीखने का काम किया है. पीएम मोदी ने ये भी बोला कि दूसरी लहर के समय कुछ राज्यों ने लॉकडाउन नहीं किया, लेकिन माइक्रो कंटेंमेंट जोन पर फोकस किया जिससे वो हालात को संभाल सके. पीएम के अनुसार पिछले एक सप्ताह के लगभग 80 फीसदी केस मीटिंग में शामिल 6 राज्यों  से हैं.

वही महाराष्ट्र, केरल में बढ़ते केस के दौरान  दूसरी लहर के पहले वाले लक्षण हैं. हमें एक बार फिर टेस्ट, ट्रैक और वैक्सीनेशन की रणनीति को आगे बढ़ाना होगा. पीएम मोदी ने कहा कि संक्रमण वही जगहों पर  तेज वैक्सीनेशन की जरुरत के साथ टेस्टिंग में सबसे ज्यादा आरटी-पीसीआर तकनीक पर फोकस देना होगा.

ये भी पढ़े : लोग नियम नहीं रहे मान, हिल स्टेशन पर भीड़ को लेकर पीएम दिखे चिंतित 

ये भी पढ़े : तीसरी लहर के मुहाने पर है देश, केरल सहित पूर्वोत्तर के सात राज्यों में संक्रमण बेकाबू 

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से  मुख्यमंत्रियों से संवाद में पीएम मोदी ने बोला कि बच्चों को कोरोना से बचाने के लिए पूरी तैयारी करनी होगी. वही विदेशो में  पिछले दो हफ्तों में तेजी से बढ़ते केस ये एक चेतावनी है. उन्होंने  सार्वजनिक जगहों पर भीड़ बढ़ने पर चिंता के साथ इसे रोकने की अपील की.

पीएम के अनुसार राज्यों में आईसीयू बेड्स, टेस्टिंग क्षमता बढ़ाने के लिए फंड आवंटन हो रहा है जबकि  केंद्र ने 23 हजार करोड़ का फंड दिया है. इसके इस्तेमाल और ऑक्सीजन प्लांट को मिशन मोड के लिए पूरा करना चाहिए.

बैठक में तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगनमोहन रेड्डी, कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येद्दियुरप्पा, ओड़िशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन वीडियो कान्फ्रेंस से शामिल हुए और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख भाई मांडविया भी बैठक में  मौजूद थे.

बताते चले कि देश में गुरुवार को 41 हजार 806 नए केस मिले जिसमें से 28 हजार 691 केस इन्हीं राज्यों से हैं. इसमें में से केरल में 13 हजार 773, आंध्र प्रदेश में 2 हजार 526, तमिलनाडु में 2 हजार 405, महाराष्ट्र में 8 हजार 10, ओडिशा में 2 हजार 110 और कर्नाटक में 1 हजार 977 केस मिले हैं.


Share This News