Breaking News
Home / राजनीति / शासन चला रहे सवर्ण, यूपी में दलितों पर बढ़ रहा अत्याचार : उदित राज
udit raaj 12

शासन चला रहे सवर्ण, यूपी में दलितों पर बढ़ रहा अत्याचार : उदित राज

udit raaj 12लखनऊ ।  सांसद उदित राज  ने प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में  कहा कि अब तक की सभी सरकारों में इतनी दलित व आदिवासी विरोधी सरकार उ.प्र. में नहीं आयी। उ.प्र.  में मुख्यमंत्री, मुख्य न्यायाधीश, गृहमंत्री, विधानसभा अध्यक्ष, मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक जैसे सभी प्रमुख पदों पर भारतीय जनता पार्टी के शासनकाल में सवर्ण बैठे हैं। यही लोग शासन-प्रशासन को चलाते हैं। यही कारण है कि उ.प्र. में दलितों पर अत्याचार बढ़ रहे हैं और उनके अधिकारों की कटौती हुई। जब से ये सरकार सत्ता में काबिज हुई है पुलिस मुठभेड़ में ज्यादातर मरने वाले दलित और पिछड़े ही रहे हैं।
  • बीजेपी सरकार में प्रत्येक महत्वपूर्ण सीट पर अगड़ो का कब्जा 
प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता डाॅ. उमा शंकर पाण्डेय ने बताया कि उदित राज ने कहा कि पुलिस तंत्र पूरा ब्राहमणवादी हो गया है। पुलिस महानिदेशक सवर्ण और उत्तर प्रदेश में तैनात 18 आईजी में एक भी अनुसूचित जाति/जनजाति वर्ग से नहीं है और 75 जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक में से मात्र 3 से 4 दलित हैं और वे भी महत्वहीन स्थानों पर तैनात हैं। हाल में 200 एस.जे.एस (वरिष्ठ जजों) का चयन हुआ, जिसमें से एक भी दलित नहीं है।
उन्होने कहा कि  उ0प्र0 लोक सेवा आयोग, उप्र माध्यमिक शिक्षा चयन बोर्ड ,  उच्चतर शिक्षा चयन आयोग, अधीनस्थ चयन आयोग , सूचना आयोग,  मानवाधिकार आयोग में से दलित-आदिवासी गायब हैं यही है भारतीय जनता पार्टी का रामराज्य। उदित राज ने कहा कि पहले फार्मेसी, इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट आदि में अनुसूचित जाति/जनजाति के विद्यार्थियों की बिना शुल्क के प्रवेश हो जाता था और बाद में सरकारी वजीफे से पूर्ति कर ली जाती थी लेकिन इस सरकार ने वंचित कर दिया। कामर्शियल पायलेट बनने के लिए जो वजीफा मिलता था, दलितों-आदिवासियों को, उसकी भी समाप्ति कर दी गयी है।
राज्य सरकार की दलित विरोधी नीतियों की वजह से 1050 प्राइमरी स्कूलों के हेड मास्टर और मिडिल क्लास के जूनियर सहायक अध्यापक की पदावनति हाईकोर्ट में अदम पैरवी में हो गया। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के नागराज के फैसले को सही रूप से सरकार प्रस्तुत करने में सक्षम नहीं रही, जिसकी वजह से यह पदावनति हुई। डाॅ. पाण्डेय ने बताया कि प्रेसवार्ता में प्रमुख रूप से  वीरेन्द्र मदान,  द्विजेन्द्र त्रिपाठी एवं  ओंकारनाथ सिंह मौजूद रहे।

Check Also

ashok singh  (3)

केशव प्रसाद मौर्य को राजनीतिक शिष्टाचार की भी जानकारी नहीं : कांग्रेस

लखनऊ: डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य पहले शिष्टाचार सीखें फिर राहुल गांधी पर टिप्पणी करें. इन …

bora

Command : राहुल गांधी के पद छोड़ने के बाद मोतीलाल वोरा को मिल सकती है अंतरिम कमान

नई दिल्ली : राहुल गांधी के काफी समय से पार्टी को नया अध्यक्ष चुनने की सलाह …

congress

यूपी कांग्रेस कमेटी के 35 वरिष्ठ पदाधिकारियों ने पद से दिया इस्तीफा

लखनऊ: लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस में इस्तीफों के शुरू हुए दौर …

congress

भाजपा शासित राज्यों में ही माॅब लिंचिंग में वृद्धि : पूर्व एमएलसी कांग्रेस

लखनऊ।  उप्र कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष एवं पूर्व एम.एल.सी. हाजी सिराज मेंहदी ने जारी बयान …

danish

कुंवर दानिश अली बने लोकसभा में बसपा नेता

लखनऊ: लोकसभा चुनाव के परिणाम के बाद रविवार को लखनऊ स्थित अपने आवास पर पार्टी नेताओं …

tdp

चंद्रबाबू नायडू को झटका, टीडीपी के चार सांसद चार बीजेपी में शामिल 

नई दिल्ली: तेलुगू देशम पार्टी के मुखिया चंद्रबाबू नायडू को आज तब तगड़ा झटका लगा जब …