July 25, 2021

सीधे जापान रवाना होने वाले प्लेयर्स के लिए नियम पर स्पष्टीकरण की दरकार

Share This News

टोक्यो ओलंपिक के आयोजकों से भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने कहा कि भारतीय खिलाड़ियों पर जापान में एंट्री करने पर लगाए जाने वाले कड़े नियम क्या उन खिलाड़ियों पर भी लागू होंगे, जो अभी विदेशों में प्रैक्टिस कर रहे हैं और उन्हें सीधे टोक्यो पहुंचना है. निशानेबाजों, पहलवानों और मुक्केबाजों सहित कई भारतीय खिलाड़ी विदेशों में प्रैक्टिस कर रहे हैं.

इनमें से मुक्केबाजों को टोक्यो रवाना होने से पहले 10 जुलाई को भारत लौटना है. टोक्यो के आयोजकों ने भारत सहित उन 11 देशों के खिलाड़ियों, कोच और सहयोगी स्टाफ सहित सभी यात्रियों के लिए कड़े दिशानिर्देश जारी कर दिए है, जहां कोरोना के अलग-अलग वेरियंट मिले थे.

आईओए ने ओलंपिक खेलों के लिए टोक्यो आयोजन समिति को लेटर में कहा कि भारत के कई खिलाड़ी पिछले एक महीने से भी अधिक समय से विदेशों में प्रैक्टिस कर रहे हैं और वे वहीं से सीधे टोक्यो पहुंचेंगे. उनमें वो 11 देश नहीं हैं जो नई अतिरिक्त शर्तों वाली सूची में है.

आईओए अध्यक्ष नरिंदर बत्रा और महासचिव राजीव मेहता ने पत्र में कहा कि ये पक्का करने का कष्ट करें कि पिछले 30 दिन से अधिक समय से भारत से बाहर प्रैक्टिस करने वाले इन खिलाड़ियों को इन अतिरिक्त प्रवेश शर्तों का पालन करने की आवश्यकता नहीं होगी.

ओलंपिक के लिए टोक्यो जाने वाले भारतीय खिलाड़ियों और अधिकारियों को जापानी सरकार ने रवाना होने से पहले एक सप्ताह तक हर दिन कोरोना टेस्ट करने और आगमन के बाद तीन दिन तक किसी भी अन्य देश के खिलाड़ियों से संपर्क नहीं करने के लिये बोला है.

आईओए ने इससे पहले इन नियमों को अनुचित और भेदभावपूर्ण बोलकर टोक्यो आयोजकों को पत्र लिखकर ये सुनिश्चित करने के लिए कहा था कि कोरोना के बचाव के लिए तैयार की गई इस व्यवस्था का खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर विपरीत और बुरा प्रभाव न पड़े.

ये भी पढ़े : टोक्यो ओलंपिक में इतने फैन्स को मिलेगी एंट्री

आईओए ने टोक्यो आयोजकों से ये भी कहा है कि भारतीय दल के लिए टोक्यो रवाना होने से पहले 48 घंटे पहले की गई आरटी-पीसीआर की रिपोर्ट लाना संभव नहीं होगा.

उसने भारतीयों को रवाना होने से 48 घंटे से अधिक समय पहले टेस्ट करने की अनुमति देने का अनुरोध किया है. बयान में कहा गया है कि टोक्यो आयोजकों ने भारत में कोरोना आरटी-पीसीआर टेस्ट के लिए लैब और परीक्षण सुविधाओं की जो लिस्ट जारी की है वो काफी कम हैं. इसमें कुछ टेस्ट लैब उन स्थानों से 400 किमी दूर हैं, जहां अभी हमारे खिलाड़ी प्रैक्टिस कर रहे हैं.

हमारे खिलाड़ी जहां अभ्यास कर रहे हैं हम वहां अतिरिक्त लैब्स का अनुरोध करते हैं. उन्होंने कहा कि, हमें दिल्ली में मान्यता प्राप्त मेडिकल सेंटर ने कहा कि वो आरटी-पीसीआर टेस्ट रिजल्ट की एक कॉपी ईमेल से 24 घंटे में वही उसकी ओरिजनल कॉपी 30 घंटे में उपलब्ध करा पाएंगे. इससे हमारे दल के मेंबर्स के लिए टोक्यो पहुंचने पर 48 घंटे पहले किए गए टेस्ट की कॉपी साथ में रखना संभव नहीं है.


Share This News